जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सैयदराजा पुलिस के उत्पीड़न की कहानी, गुंजा की जबानी...आप भी जानिए
चंदौली जिले के सैयदराजा थाना इलाके मनराजपुर गांव में पुलिस के द्वारा एक जिला बदर व गैर जमानती वारंटी कन्हैया यादव की बेटी की मौत का मामला पुलिस के गले की फांस बन गया है
 

बहन ने  चिल्लाती रही दीदी को मत मारो सर, उसकी शादी पड़ी

चंदौली जिले के सैयदराजा थाना इलाके मनराजपुर गांव में पुलिस के द्वारा एक जिला बदर व गैर जमानती वारंटी कन्हैया यादव की बेटी की मौत का मामला पुलिस के गले की फांस बन गया है। मृतका की बहन ने पूरे घटनाक्रम पर मीडिया से बात की दिनभर मीडिया वालों ने घर परिवार के लोगों से मामले पर जानकारी लेने की कोशिश की।

बहन ने मीडिया से कहा कि वह चिल्लाती रही पर पुलिस का उत्पीड़न जारी रहा....दीदी को मत मारो सर, उसकी शादी पड़ी है। क्यों मार रहे हैं, हम लोग क्या किए हैं, मेरी परीक्षा है मत मारो दीदी को मत मारो। घर पर छापेमारी करने गए पुरुष और महिला पुलिसकर्मी पीटते रहे।

सैयदराजा के मनराजपुर गांव में जिला बदर और गैंगस्टर के आरोपी कन्हैया यादव की बड़ी बेटी निशा यादव की मौत की चश्मदीद गवाह उसकी छोटी बहन गुंजा यादव ने कहा कि कई गाड़ी से साढ़े चार बजे के करीब पुलिस के लोग पहुंचे और सीधे घर में पहुंच गए। घर के लोगों का उत्पीड़न करना शुरू कर दी। वहीं गुंजा ने पुलिस पर कई तरह के गंभीर आरोप लगाए हैं।

गुंजा ने कहा कि जब पुलिसकर्मी घर में पहुंचे तो उस समय वह और उसकी बड़ी बहन निशा छत पर थी। दरवाजे तेज आवाज के साथ खोलने की आवाज सुनकर सीढ़ी से हम लोग नीचे आए तो देखा कि दो दर्जन से अधिक की संख्या में आए पुलिसकर्मी घर में घुस रहे थे। 

गुंजा यादव ने पूरे घटनाक्रम को लेकर पुलिस पर गंभीर सवाल खड़े किए और कहा कि जिस समय पुलिस आई घर में कोई नहीं था। पुलिस सीधे घर में प्रवेश किये हम लोग छत पर थे। नीचे आकर हम लोगों ने पूछा सर क्या हुआ है, क्यों धड़ाधड़ घर में घुस रहे हैं। किसी के घर में कैसे घुस सकते हैं। इस पर पुलिस के लोगों ने कहा कि तुम गुंडे की बेटी हो। तुम लोगों को यहां से उठा के ले जाएंगे। तो हमने पूछा आप लोग ऐसे क्यों कर रहे हैं इस पर हमारी पिटाई शुरू कर दी। 

गुंजा ने कहा कि उसे महिला और पुरुष पुलिसकर्मी मिलकर पीट रहे थे। दीदी वहां से भागने लगी तो उनको भी मारने लगे। पिटाई के दौरान दीदी चिल्ला रही थी। कह रही थी गुन्जा तुम किसी को बुलाओ.. यह सब हमको मार रहे हैं। हमने कहा कि सर क्यों ऐसा कर रहे हैं। उसकी शादी पड़ी है... सर ऐसा क्यों कर रहे हैं...हमारे साथ ऐसा मत कीजिए.. मत कीजिए। हम लोगों ने क्या किया है। हमको कमरे में ही रोक दिया गया। इसके बाद ये लोग कुर्सी लेकर जाने लगे। रोकने की कोशिश की तो नहीं माने और कुर्सी अंदर लेकर चल गए। फिर वहां से बाहर चले आए। जाने के बाद हम अंदर कमरे में गए तो देखा की लोग दीदी को मार कर साड़ी से बांधकर लटका दिए हैं। ताकि यह साबित किया जा सके कि यह आत्महत्या है। 

गुंजा ने कहा कि पुलिस वाले कुछ बता नहीं रहे थे। बस यही कह रहे थे कि तुम लोगों को उठवा ले जाऊंगा और गंदी गंदी गालियां दे रहे थे। तुम्हारा घर गिरवा देंगे तुम लोगों को रोड पर ला देंगे... यही सब कह कर के मारना शुरू कर दिए। दो लड़कियों के लिए दो दर्जन से अधिक पुलिसकर्मी आए थे। हम लोगों के ऊपर कोई आरोप नहीं था, इसके बाद भी हमें पीटा गया। ऐसी कार्रवाई क्यों की गयी है।

जल्द होनी थी निशा की शादी

 मनराजपुर निवासी गैंगेस्टर के आरोपी कन्हैया यादव की बेटी निशा यादव उर्फ गुड़िया की शादी तय हो गई थी। जून में उसकी शादी होने की तैयारी थी। हालांकि अभी शादी की तारीख तय नहीं की जा सकी थी। पिता कन्हैया बड़ी बेटी निशा का हाथ पीला करने के लिए तैयारी कर रहा था। उसने जिले में ही एक गांव में शादी भी तय कर रखी थी। बस शादी की तारीख रखना बाकी था। वहीं शादी को लेकर पूरा परिवार तैयारी कर रहा था।