जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
इंडियन बैंक लॉकर लूट मामले में वीडियो कांफ्रेंसिंग से पेश हुए बैंक के अफसर, 1 सितंबर को अगली पेशी
अबकी बार कोर्ट में सुनवाई के दौरान बैंक अधिकारियों का रुख सकारात्मक रहा और ऑनलाइन पेशी पर आए मुख्य परिचालन अधिकारी ने बैंक के शीर्ष प्रबंधन और बैंक बोर्ड से मामले को सुलझाने के लिए समय मांगा है।
 

आलाकमान और बैंक बोर्ड मामले के सेटलमेंट के लिए करेगा पहल

बैंक के अधिकारियों को एक महीने की और मोहलत

अगली सुनवाई पर तय हो सकता है मामला 

चंदौली जिला मुख्यालय स्थित स्थायी लोक अदालत में लुटे हुए लॉकरधारियों व बैंक अधिकारियों के सुनवाई के दौरान चेन्नई के अफसर कोर्ट में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से और अन्य अधिकारी खुद कोर्ट में हाजिर हुए।

अबकी बार कोर्ट में सुनवाई के दौरान बैंक अधिकारियों का रुख सकारात्मक रहा और ऑनलाइन पेशी पर आए मुख्य परिचालन अधिकारी ने बैंक के शीर्ष प्रबंधन और बैंक बोर्ड से मामले को सुलझाने के लिए समय मांगा है। जिस पर सुनवाई करते हुए लोक अदालत के न्यायाधीश महोदय ने बैंक को अगली सुनवाई 1 सितंबर की तारीख दे दी।  इस पेशी में अपना रुख स्पष्ट कर देगा।

बैंक के उच्चाधिकारी से कोर्ट ने मामले का सेटलमेंट करने का  निर्देश दिया।  साथ ही अगली कार्यवाही पर कुछ न कुछ निष्कर्ष निकल सकता है।


बता दें कि चंदौली जिला मुख्यालय इंडियन बैंक में 30-31 जनवरी 2022 को लाकर लूट के दौरान 40 लाकरधारियों के लॉकर काटे और लूटे गए थे। इसी मामले में मंगलवार को जिला मुख्यालय स्थित स्थायी न्यायालय में मामले की सुनवाई थी । जिसमें लुटे हुए लाकरधारी अपनी गहनों के मुआवजा के लिए सुनवाई के समय डटे हुए थे । वहीं इस मामले में न्यायाधीश द्वारा बैंक के अधिकारियों को भी बुलाया गया था । जिसमें बैंक के उच्च अधिकारी की उपस्थिति न होने के कारण इस सारे मामले को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सुने जाने तथा उसकी कार्यवाही किए जाने का कार्य किया गया।  

वहीं न्यायाधीश द्वारा दिए गए सुझाव तथा  लूटे हुए लाकरधारियों को न्याय दिलाने की बात कर  मुआवजा देने पर सेटलमेंट करने की बात कही गई। 


जिस पर उच्च अधिकारी द्वारा इस मामले को बोर्ड के सामने रखकर इस मामले का हल निकालने की बात कही गई।
 वही मौजूद बैंक के अधिकारी व अधिवक्ताओं द्वारा अपनी दलीलें रखी गई। जिस पर न्यायाधीश महोदय द्वारा इस मामले को सेटलमेंट करने पर जोर दिया गया।


 जिस पर बैंक के अधिकारियों द्वारा और समय मांगने की बात कही गई। जिस पर न्यायाधीश द्वारा उन्हें 1 सितंबर तक का समय दिया गया ।वहीं न्यायधीश महोदय द्वारा यह भी निर्देश जारी किया गया कि 1 सितंबर को सुनवाई पर इस मामले का सेटलमेंट किया जाए नहीं तो कोर्ट द्वारा उन अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही भी की जाएगी।  वही वहां मौजूद लाकर धारियों द्वारा अपनी बातें रखी गई। जिस पर न्यायधीश महोदय द्वारा 1 सितंबर को अगली सुनवाई किए जाने की बात कही गई और लूटे हुए लाकर धारियों को न्याय दिलाने के लिए मामले को सेटलमेंट करने की बात कही गई ।

अब देखना यह है कि बैंक के आलाधिकारी इस मामले में सेटलमेंट करते हैं या कोर्ट के इसी तरह चक्कर लगाते रहते हैं।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*