जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
आज अखिलेश यादव से मिलेंगी लॉकर डकैती कांड की पीड़ित महिलाएं, मांगेंगी आंदोलन के लिए समर्थन
चंदौली जिले के इंडियन बैंक में कोई लॉकर डकैती के मामले के पीड़ित महिलाएं आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात करेंगी और उनसे अपना दर्द साझा करेंगी। महिलाओं ने इस मौके पर अखिलेश यादव को अपना एक ज्ञापन देने का फैसला किया है
 

 पूर्व मुख्यमंत्री आज अखिलेश यादव सैयदराजा थाने के मनराजपुर गांव में आ रहे हैं

इंडियन बैंक में  लॉकर डकैती  में महिलाओं ने इस मौके पर अखिलेश यादव को अपना एक ज्ञापन देने का फैसला किया है

चंदौली जिले के इंडियन बैंक में  लॉकर डकैती के मामले के पीड़ित महिलाएं आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात करेंगी और उनसे अपना दर्द साझा करेंगी। महिलाओं ने इस मौके पर अखिलेश यादव को अपना एक ज्ञापन देने का फैसला किया है, जिसमें लॉकर लूट की घटना के बाद पुलिस और बैंक प्रबंधन द्वारा की जा रही लापरवाही व उचित तरीके से न मुआवजा दिए जाने की शिकायत करेंगी और मामले में पीड़ितों की मदद करने की अपील करते हुए अपने आंदोलन का समर्थन करने की मांग करेंगी।

आपको अवगत कराना है कि 30-31 जनवरी 2022 की रात में  चंदौली पुलिस अधीक्षक के आवास के पास से इंडियन बैंक की चंदौली शाखा से 40 लॉकरों को 4 घंटे से अधिक समय तक काटकर लगभग 20 करोड़ रुपए की कीमत के बहुमूल्य आभूषणों को डकैतों के द्वारा लूट लिया गया था। मामले में दर्ज एफआईआर व पुलिस की जांच में बैंक की सुरक्षा व्यवस्था में तमाम तरह की खामियां पायी गयी हैं और इस मामले की चार्जशीट कोर्ट में दर्ज भी हो गयी है। पर पुलिस बैंक पर किसी तरह का कोई शिकंजा नहीं कस रही है, जिससे उचित मुआवजे का भुगतान हो सके। 

आपको पता होगा उत्तर प्रदेश सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों की पहल व सक्रियता पर कानपुर जिले में सेंट्रल बैंक से गायब हुए गहनों और जेवरातों के मामले में बैंक प्रबंधन ने कार्यवाही करते हुए मात्र 24 दिन के अंदर पीड़ित 11 लॉकरधारियों को मुआवजा देते हुए भरपाई की है। कानपुर की कराचीखाना लॉकर कांड के 11 पीड़ितों को 2 करोड़ 64 लाख का मुलावजा मिला है। इस मामले में बैंक प्रबंधन ने लॉकरधारियों के प्रति उदारता दिखाई है। लेकिन आपका इंडियन बैंक प्रबंधन इस मामले में उदासीन बना रहा जिसके बाद हमें कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा। आपके बैंक के अफसर हमारे द्वारा मांगी गयी जानकारी व पेपर देने में जानबूझकर लेटलतीफी करते रहे जिससे पीड़ित लॉकरधारियों को गुस्सा भड़कने लगा और आपके बैंक में तालाबंदी व विरोध प्रदर्शन जैसी कार्रवाई बार बार करनी पड़ रही है। 

इस ज्ञापन को सौंपकर मामले को बड़े स्तर पर उठाने व सरकार पर दबाव बनाने की अपील की जाएगी तथा आंदोलन में उनका समर्थन मांगा जाएगा। इसके लिए पार्टी के प्रवक्ता मनोज सिंह काका ने सहयोग करने व पीड़ित महिलाओं को अखिलेश यादव से मिलवाने की बात कही है।

आपको पता होगा कि आज अखिलेश यादव सैयदराजा थाने के मनराजपुर गांव में आ रहे हैं और वह पुलिस के द्वारा उनकी बेटी की हत्या  के मामले में जानकारी लेने के साथ साथ पीड़ित परिवार को सांत्वना देंगे और हर संभव मदद का भरोसा भी देंगे।