जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अखिलेश यादव ने लॉकर डकैती कांड की पीड़ित महिलाओं को दिया आश्वासन, मुआवजा दिलवाने के लिए करेंगे सपोर्ट
चंदौली जिले के इंडियन बैंक में कोई लॉकर डकैती के मामले के पीड़ित महिलाएं आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात करके और उनसे अपना दर्द साझा किया। महिलाओं ने इस मौके पर अखिलेश यादव को अपना एक ज्ञापन देते हुए कहा कि सत्ता पक्ष के लोग कोई मदद नहीं कर रहे हैं
 
इंडियन बैंक में लॉकर डकैती के मामले में  महिलाओं ने अखिलेश यादव से  मुलाकात करके उनसे अपना दर्द साझा किया

चंदौली जिले के इंडियन बैंक में कोई लॉकर डकैती के मामले के पीड़ित महिलाएं आज उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव से भी मुलाकात करके और उनसे अपना दर्द साझा किया। महिलाओं ने इस मौके पर अखिलेश यादव को अपना एक ज्ञापन देते हुए कहा कि सत्ता पक्ष के लोग कोई मदद नहीं कर रहे हैं। इसलिए आपको मिल कर अपना दर्द बताने का फैसला किया है।

लॉकर लूट की घटना के बाद पुलिस और बैंक प्रबंधन द्वारा की जा रही लापरवाही व उचित तरीके से न मुआवजा दिए जाने की शिकायत सुनकर अखिलेश यादव ने इस मामले में अपनी ओर से कार्यवाही करने और मदद करने का भरोसा दिया है।

 
अखिलेश यादव ने कहा कि जब से भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई है तब से बैंक भी असुरक्षित हो गए हैं नोटबंदी और ब्याज दर घटाने के बाद अब बैंक के लाकर भी लूटे जा रहे हैं और बैंक लूट की भी घटनाएं बढ़ रही है। अखिलेश यादव ने कहा कि वह कानपुर की तर्ज पर मुआवजा दिलाने के लिए अपनी ओर से पहल करेंगे और जल्द ही इस पूरी घटना को बड़े मंच और सदन में उठाने की पहल करेंगे।


पीड़ित महिलाओं ने अखिलेश यादव से कहा कि मामले में दर्ज एफआईआर व पुलिस की जांच में बैंक की सुरक्षा व्यवस्था में तमाम तरह की खामियां मिलने के बाद भी बैंक पर कार्यवाही न करना पुलिस की बहुत बड़ी लापरवाही है जब तक बैंक पर शिकंजा नहीं  कसा जाएगा, तब तक वह मुआवजा देने के लिए बाध्य नहीं होंगे।

 इंडियन बैंक प्रबंधन इस मामले में उदासीन बना हुआ है।  बैंक के अफसर हमारे द्वारा मांगी गयी जानकारी व पेपर देने में जानबूझकर लेटलतीफी करते रहे हैं, जिससे पीड़ित लॉकरधारियों को गुस्सा भड़कने लगा है और बैंक में तालाबंदी व विरोध प्रदर्शन जैसी कार्रवाई बार बार करनी पड़ रही है। 


अब महिलाओं को उम्मीद है कि अखिलेश यादव की पहल पर हो सकता है कि प्रशासन और बैंक प्रबंधन पर दबाव पढ़े और मुआवजे को मिलने में आसानी हो।