जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
9 मई से इंडियन बैंक की दोनों शाखाओं में तालाबंदी, फिर से जोरदार आंदोलन की तैयारी
चंदौली जिले के इंडियन बैंक के प्रबंधन के खिलाफ लुटे हुए लॉकरधारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। बैंक प्रबंधन लॉकरधारियों के द्वारा मांगी गई जानकारी अब तक देने में असमर्थ रहा है और वह जानबूझकर पूरे मामले में टालमटोल कर रहा है, जिससे मामले को कानूनी दावपेंच के जरिए लटकाया जा सके और मुआवजे के भुगतान में देरी हो
 

बैंक प्रबंधन लॉकरधारियों के द्वारा मांगी गई जानकारी अब तक देने में असमर्थ रहा

जानबूझकर पूरे मामले में टालमटोल कर रहा है

चंदौली जिले के इंडियन बैंक के प्रबंधन के खिलाफ लुटे हुए लॉकरधारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। बैंक प्रबंधन लॉकरधारियों के द्वारा मांगी गई जानकारी अब तक देने में असमर्थ रहा है और वह जानबूझकर पूरे मामले में टालमटोल कर रहा है, जिससे मामले को कानूनी दावपेंच के जरिए लटकाया जा सके और मुआवजे के भुगतान में देरी हो। इसी वजह से चंदौली जिले के पीड़ित लॉकरधारियों ने आपस में विचार-विमर्श करके जब फैसला किया है कि आगामी 9 मई दिन सोमवार से चंदौली जिले के दोनों इंडियन बैंक की शाखाओं को बंद करा कर धरना प्रदर्शन का कार्यक्रम शुरू किया जाएगा।

पीड़ित लॉकरधारी विजय तिवारी ने बयान जारी करते हुए कहा कि बैंक प्रबंधन और पुलिस प्रशासन आपस में मिले हुए हैं और दोनों पीड़ित लॉकरधारियों की पूरी तरह से मदद नहीं कर रहे हैं। पुलिस बैंक प्रबंधन और बैंक के अधिकारियों पर शिकंजा कसने में नाकाम रही है। उनकी लापरवाहियों को चार्जशीट में दाखिल करके अपना पल्ला झाड़ रही है। इसी वजह से बैंक प्रबंधन जानबूझकर मुआवजा देने में देरी करने के साथ-साथ लॉकरधारकों के द्वारा मांगी जा रही जानकारी को देने में आनाकानी कर रहा है।

कानपुर की घटना से सीख लेने की अपील

 विजय तिवारी ने कहा कि कानपुर की घटना में जब राजनेताओं के कहने पर सरकार व पुलिस ने बैंक पर दबाव डाला तो वहां 24 दिन में मामले का निस्तारण हो गया और सबको क्लेम के हिसाब से 75 प्रतिशत तक मुआवाज मिल गया। लेकिन चंदौली जिले के लॉकरधारियों की मदद के लिए कोई आगे नहीं आ रहा है। इसलिए हमने अपनी लड़ाई फिर से शुरू करने के साथ-साथ बैंक को बंद कराकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरू करने का फैसला किया है। यह धरना प्रदर्शन अब मामले के निस्तारण तक चलेगा और अगर पुलिस व जिला प्रशासन मामले में अडंगा डालेगा तो उसके खिलाफ भी आंदोलन शुरू किया जाएगा।  

बैंक के खाताधारकों से अपील 

लॉकरधारियों ने बैंक के खाताधारकों से अपील की है कि वह शुक्रवार व शनिवार तक बैंक के जरूर काम काज निपटा लें और लेनदेन कर लें, ताकि सोमवार से बंदी के बाद उनको परेशानी न हो। या वह अपना खाता किसी और बैंक में शिफ्ट कर लें। हो सकता है कि आंदोलन लंबा चले, जिससे बैंक एकबार फिर से कई दिन बंद रहेगा।

 आपको बता दें कि लॉकरधारियों द्वारा बैंक प्रबंधन को 1 मई को पत्र रिसीव करा कर कुछ आवश्यक जानकारियां मांगी गई थी, जिसे अदालत के सामने पेश किया जा सके, लेकिन बैंक प्रबंधन इसे देने में असफल रहा है। इसीलिए लॉकरधारियों ने सोमवार से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन कार्यक्रम शुरू करने का फैसला किया है।