जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
लेखपाल की करतूत की शिकायत, इसलिए बना दिया ग्राम प्रधान का फर्जी दस्तखत

डीएम ने प्रकरण की जांच कराकर उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाते हुए कहा कि दबंगों पर भी कार्रवाई की जाएगी। 

 

 सवैया महलवार ग्राम पंचायत का मामला

जिलाधिकारी ईशा दुहन कारएंगी मामले में जांच

कार्रवाई करने का दिया भरोसा 

चंदौली जिले की सदर तहसील के सवैया महलवार ग्राम पंचायत के लेखपाल ने एक अनोखा काम कर दिखाया है। वह ग्राम प्रधान शीला देवी का फर्जी सिग्नेचर बनाकर 40 साल से बसे गरीबों की जमीन जलकल विभाग को आवंटित कर दी है। मामला प्रकाश में आने पर शिकायत जिलाधिकारी तक पहुंची है, जिसमें जिलाधिकारी ईशा दुहन ने जांच कराने व कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है।

बताया जा रहा है कि इस मामले को लेकर प्रधान के साथ भाकपा माले का प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी ईशा दुहन से मिला था और जिलाधिकारी को पत्रक सौंपकर कार्रवाई की मांग की थी। डीएम ने प्रकरण की जांच कराकर उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाते हुए कहा कि दबंगों पर भी कार्रवाई की जाएगी। 

भाकपा माले राज्य कमेटी सदस्य शशिकांत सिंह ने कहा कि भूमिहीन पृष्ठभूमि से आने वाली ग्राम प्रधान शीला देवी को विकास योजनाओं को जनता तक पहुंचाने में ग्राम सभा के दबंगों की ओर से अवरोध किया जा रहा है। लेखपाल उनके साथ मिला हुई है। पिछले छह महीने से लोगों को परेशान किया जा रहा है। 

जल कल योजना के तहत ग्राम सभा में जमीन को चिन्हित कर ग्राम प्रधान द्वारा प्रस्ताव भेजा गया, लेकिन लेखपाल उस प्रस्ताव को खारिज कर दबंगों के इशारे पर 40 साल से बसे भूमिहीन दलित परिवार की जमीन का ग्राम प्रधान की फर्जी सिग्नेचर कर लेखपाल ने जलकल के बोरिंग की योजना के लिए आवंटित कर दी। इससे ग्राम पंचायत की जनता में नाराजगी है। 


 प्रतिनिधिमंडल में अखिल भारतीय ग्रामीण क्षेत्र मजदूर सभा के जिला संयोजक कामरेड रामायण राम, भाकपा माले चंदौली ब्लाक सचिव कामरेड सूचित राम, सवैया महलवार ग्राम प्रधान शीला देवी व अन्य मौजूद रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*