जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सिद्धपीठ धाम खड़ान में सम्पन्न हुयी दहेज रहित शादी, अंजनी सिंह ने किया कन्यादान

इलाके में चर्चा का विषय बनी है नेहा व प्रद्युम्न की शादी, मंदिर परिसर में बिना दहेज शादी, दोनों के परिवार वालों की हो रही तारीफ 

 

चंदौली जिले की शहीदी धरती धानापुर क्षेत्र के खड़ान गांव स्थित सिद्धपीठ तपोभूमि श्री श्री 1008 बाबा प्रसन्नदास जी महाराज के पावन समाधि स्थल पर एक दहेज रहित विवाह संपन्न हुआ। इस दहेज रहित विवाह को देखकर लोगों में काफी प्रसन्नता दिखी तो वहीं लोगों ने अंजनी सिंह के प्रयास की काफी तारीफ की। इस शादी में लड़की पक्ष के लोगों ने स्वेच्छा से घर का उपयोगी सामान, बेड, श्रृंगार दान, ड्रेसिंग टेबल जैसे सामान उपहार स्वरूप भेंट में दिया। 

चकिया रघुनाथपुर निवासी बबलू की पुत्री नेहा एवं बनवा निवासी तुलसी के पुत्र प्रद्युम्न की दहेज रहित शादी जिला पंचायत सदस्य अंजनी सिंह के देखरेख में सम्पन्न करायी गयी। इस मौके पर अंजनी सिंह ने कहा कि एक तरफ जहां समाज में भारी भरकम दहेज की मांग के साथ लोग एक दूसरे के साथ रिश्तों की सौदेबाजी को ही अपना गर्व व अपना बड़प्पन मानते हैं, जिससे लड़की के परिवार पर अनावश्यक बोझ बढ़ता है। 

एक ओर जहां दहेज़ के बोझ तले दबी हुयी पिता की गर्दन वर्षों तक सीधी नहीं हो पाती तो वहीं दुनिया को दिखाने के लिए लोग फालतू के खर्चों से अपना भौकाल बनाने की कोशिश करते हैं। जिसका दोनों परिवारों को कोई फायदा नहीं होता है।

feet

वहीं दूसरी ओर समाज में बबलू एवं तुलसी जैसे माता-पिता व गार्जियन हैं, जो लोग बिना दहेज़ की शादी करके अपने बच्चों की शादी करके खुश हो जाते हैं।  प्रद्युम्न जैसा युवा जो बिना दहेज़ की शादी की बात ख़ुशी ख़ुशी मानकर अपनी शादी करता है। ऐसे लोग निश्चित रूप से बधाई के पात्र हैं। ऐसे लोग समाज के लिए एक आदर्श प्रस्तुत करते हैं।

अंजनी सिंह ने इस मौके पर कन्यादान की रस्म को निभाकर वर वधु को सुखद वैवाहिक जीवन का आशीर्वाद दिया। इस मौके पर गुल्लू गौतम, सूर्य बली पांडे, विजय खरवार, सदानंद खरवार, बचाऊ सिंह, भगावन राम, मूरत राम, अशोक राम, साहब शरन, संतोष भारती सहित शादी में लड़की लड़के के पिता रिश्तेदार एवं अन्य ग्रामीण उपस्थित रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*