जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सावधान : चंदौली जिले में मिले हैं 46 नये टीबी मरीज, जिले में हैं कुल 1248 सक्रिय रोगी
चंदौली जनपद में चलाए गए क्षयरोगी खोज अभियान के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों की टीम ने जिले में कुल 2139 लोगों का सैम्पल लिया था। इसमें 46 नये क्षय रोग के मरीज चिह्रित किए गए। वर्तमान में जनपद में कुल 1248 क्षय रोगी सक्रिय बताए जा रहे हैं। उनका इलाज चल शुरू किया जा रहा है
 

टीबी मरीजों को खोजने का विशेष अभियान

दवा का नियमित रूप से सेवन करने पर रोगी छह माह में पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता

चंदौली जनपद में चलाए गए क्षयरोगी खोज अभियान के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों की टीम ने जिले में कुल 2139 लोगों का सैम्पल लिया था। इसमें 46 नये क्षय रोग के मरीज चिह्रित किए गए। वर्तमान में जनपद में कुल 1248 क्षय रोगी सक्रिय बताए जा रहे हैं। उनका इलाज चल शुरू किया जा रहा है।

tb marij

जिले के क्षय रोग अधिकारी डा. राजेश कुमार ने कहा कि देश को वर्ष 2025 तक क्षय रोग मुक्त करने के लिए विभाग हर संभव प्रयास कर रहा है। क्षयरोग के प्रति जागरूकता से ही इस बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सकता है। कहा कि अगर किसी व्यक्ति को 15 दिन से अधिक समय से खांसी है तो उसे तुरंत क्षयरोग की जांच करानी चाहिए। इसके लिए सभी स्वास्थ्य केन्द्रों पर नि:शुल्क जांच एवं उपचार की सुविधा उपलब्ध है। 

TB MARIJ

इस बारे में जिला समन्वयक पूजा राय ने बताया कि आयुष्मान भारत हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर के जरिये टीबी मरीजों को खोजने का विशेष अभियान विश्व क्षय रोग दिवस (24 मार्च) से शुरू होकर 13 अप्रैल तक चलाया गया। इस अभियान के दौरान जिले के कुल 168 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर कम्युनिटी हेल्थ आफिसर एवं 1887 आशा व 1823 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर करीब 5.74 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की। इस दौरान 2139 संभावित टीबी रोगी पाए गए। सभी संभावित रोगियों के बलगम की जांच की गई। इसमें 46 क्षय रोगी मिले हैं। 

पूजा राय ने कहा कि कुछ ऐसे क्षय रोगी होते है जो उपचार करा लेते हैं। लेकिन कुछ रोगी ऐसे भी हैं जो किन्हीं कारणों से क्षयरोग की दवा शुरू नहीं कर पाते। ऐसे छिपे रोगियों की तलाश कर दवा उपलब्ध करा दी गई है। दवा का नियमित रूप से सेवन करने पर रोगी छह माह में पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता है। इस अवधि में रोगी को पौष्टिक आहार खाने के लिए 500 रुपये की राशि भी प्रतिमाह दी जाती है।