जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
प्राथमिक विद्यालय सरैया में तीन दिनों से नहीं बन रहा है मिड डे मील, भूखे पेट बच्चे कर रहे हैं पढ़ाई
स्कूल में भूखे बच्चे सोमवार को भोजनालय के समीप खड़े होकर भोजन का इंतजार करते रहे। जबकि रसोईया घर में ताला लटका रहा। 
 

जरा इस स्कूल का दौरा करिए साहब

देखिए कैसे चल रही है पढ़ायी व सरकारी योजना

बहाने बनाते हैं कर्मचारी व अध्यापक  

चंदौली जिला के शहाबगंज विकासखंड अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय सरैया में पिछले तीन दिनों से एमडीएम के तहत छात्रों को भोजन नहीं मिल रहा है। स्कूल में भूखे बच्चे सोमवार को भोजनालय के समीप खड़े होकर भोजन का इंतजार करते रहे। जबकि रसोईया घर में ताला लटका रहा। 

आपको बता दें कि प्राथमिक विद्यालय सरैया में मिड डे मील के तहत भोजन ना बनने की शिकायत पर सोमवार को पत्रकार स्कूल में पहुंच गए देखा छात्र रसोईया घर के बाहर खड़े होकर भोजन का इंतजार कर रहे हैं। वहीं प्रधानाध्यापक अमित कुमार स्कूल में अनुपस्थित रहे। जिस पर पत्रकारों ने शिक्षकों से मिड डे मील के बाबत जानकारी चाही तो बताया गया कि रसोईया घर की चाबी खो जाने के कारण भोजन नहीं बन पाया है। 

No Mid Day Meal Primary School Saraiya

जबकि छात्रों का कहना है कि तीन दिनों से उन्हें भोजन नहीं दिया जा रहा है। जिससे सुबह 8 बजे से दोपहर 12:30 बजे तक भूखे पेट रहकर पढ़ाई करनी पड़ रही है। स्कूल के छात्रों ने बताया कि मिड डे मील के तहत उन्हें रोटी आज तक नसीब नहीं हो पाई । फल व दूध विद्यालय में इन लोग देखे ही नहीं हैं। छात्र सुमित, अजय, गौरव, अंजना, सीफा, राम अनंत, ने बताया कि विद्यालय में मात्र सब्जी चावल बनता है जो स्वादिष्ट भी नहीं रहता।

No Mid Day Meal Primary School Saraiya

बताया जा रहा है कि इस विद्यालय में 181 छात्र प्रवेश लिए हैं। जहां शिक्षामित्र को लेकर 6 शिक्षकों की तैनाती है। शिक्षक संतोष गुप्ता ने बताया कि प्रधानाचार्य अमित कुमार व शिक्षिका सुलेखा मौर्य छुट्टी पर है ।

   इस संदर्भ में खंड शिक्षाधिकारी अजय कुमार ने बताया कि यदि स्कूल में एमडीएम के तहत भोजन नहीं बन रहा है तो जांच कर कार्यवाही की जाएगी। वही प्रधानाचार्य की अनुपस्थिति के बाबत पूछे जाने पर जांच क्या कार्रवाई करने की बात कहीं।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*