जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अपात्रों को राशन कार्ड लौटाने का एक मौका, जानिए क्या है तरीका
चंदौली में 389 लोगों ने लौटाए राशन कार्ड, आपके पास भी है मौका, क्लिक करके जानिए क्राइटेरिया व तरीका
 

चंदौली जिले में सार्वजनिक खाद्यान्न वितरण प्रणाली में शामिल राशन कार्डधारकों का सत्यापन किए जाने को अभियान चलाया जा रहा है। अब तक 389 राशन कार्डधारकों ने अपात्रता की दशा में अपने राशन कार्ड को सरेंडर किया है। अपात्र की श्रेणी में आने वाले राशनकार्ड का समर्पण नहीं करने पर वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी दी गई है। बाकी अपात्रों का एक और मौका दिया जा रहा है कि वह अपने राशन कार्ड लौटा दें। 

चंदौली जिले में कुल 3.55 लाख राशन कार्डधारक हैं। इसमें अंत्योदय कार्डधारकों की संख्या 52,493 और पात्र गृहस्थी कार्डधारकों की संख्या 3,03,412 है। जिलापूर्ति विभाग की ओर से राशन कार्डधारकों का सत्यापन किया जा रहा है। इसके लिए बकाएदे अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान अपात्र की श्रेणी में आने पर राशन कार्ड खुद समर्पण कर रहे हैं।

 जिलापूर्ति अधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी ने अपात्र राशन कार्डों को निरस्त किए जाने के संबंध में सभी खंड विकास अधिकारी, अधिशासी अधिकारी को राशन कार्ड का सत्यापन करने का निर्देश दिया है। कहा कि शासनादेश के अनुसार राशनकार्डों के चयन सूची से निष्कासन के लिए क्राइटेरियर तय किया गया है।

ऐसे लोग हैं अपात्र
 इसके तहत आयकर दाता, ऐसे परिवार जिसके किसी भी सदस्य के स्वामित्व में चार पहिया वाहन अथवा टैक्टर, हार्वेस्टर, वातानुकूलन यंत्र, 5 केवीए याउससे अधिक क्षमता का जनरेटर है। इसके अलावा पांच एकड़ से अधिक सिंचित भूमि, शहरी क्षेत्र में 100 वर्ग मीटर से अधिक का आवासीय प्लाट, 80 वर्ग मीटर या उससे ज्यादा का कार्पेट एरिया का व्यवसायिक स्थान, ग्रामीण क्षेत्र के ऐसे परिवार के सदस्य जिनकी आय दो लाख प्रति वर्ष से अधिक व शहरी क्षेत्र में 3 लाख से ज्यादा है। ऐसे परिवार जिनके सदस्यों के पास एक से अधिक शस्त्र है। ऐसे लोग अपात्र की श्रेणी में आएंगे। 

जिला पूर्ति अधिकारी ने चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि अपात्र श्रेणी में इसमें से कोई भी आता है तो संबंधित तहसील के आपूर्ति कार्यालय अथवा जिलापूर्ति कार्यालय में पहुंचकर एक सप्ताह के अंदर राशन कार्ड का समपर्ण कर दे। अन्यथा सत्यापन में अपात्र पाए जाने पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी और रिकवरी भी की जाएगी।