जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
पं. कमलापति त्रिपाठी जिला अस्पताल की ओपीडी शुक्रवार को भी ठप, एसपी से मिले डॉक्टर
मृतक के परिजनों और ग्रामीणों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जिला अस्पताल में काफी देर तक हंगामा किया।
 

 दुर्व्यवहार से नाराज चिकित्सकों की मांग

हंगामा व  दुर्व्यवहार करने वालों पर कार्रवाई की मांग

पुलिस ने ली तहरीर और जांच के बाद मुकदमा दर्ज करने का भरोसा

चंदौली जिला मुख्यालय पर स्थित पं. कमलापति त्रिपाठी जिला अस्पताल की ओपीडी दूसरे दिन शुक्रवार को भी ठप रही। युवक की मौत के बाद ग्रामीणों के दुर्व्यवहार से नाराज चिकित्सकों ने 11 बजे के बाद ओपीडी का कार्य बहिष्कार कर दिया। इससे मरीजों को काफी परेशानी हुई। कई लोग पर्चा लगाने के बाद भी बिना इलाज के ही घर लौट गए।

OPD Closed

आपको बता दें कि अलीनगर थाना क्षेत्र के गोधना मोड़ के पास बृहस्पतिवार को माटीगांव निवासी बाइक सवार राघवेंद्र तिवारी की भारी वाहन के चपेट में आने से मौत हो गई थी। मृतक के परिजनों और ग्रामीणों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए जिला अस्पताल में काफी देर तक हंगामा किया।

इस दौरान आरोप है कि लोगों ने इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर और अन्य चिकित्सकों से भी दुर्व्यवहार किया था। इसके चलते बृहस्पतिवार को सुबह से शाम तक ओपीडी और इमरजेंसी सेवाएं ठप रहीं। शाम के बाद इमरजेंसी सेवा बहाल हुई। शुक्रवार की सुबह 8 बजे चिकित्सक ओपीडी में बैठे जरूर पर 11 बजे के बाद कार्य बहिष्कार कर चले गए। ज्यादातार मरीजों को पर्चा लगाने के बाद भी बिना चिकित्सक का दिखाए निराश होकर घर जाना पड़ा।

कठौरी का निवासी अजय सोनकर ने बताया कि चिकित्सकों ने अचानक ओपीडी बंद कर दी। पर्चा लगाने के बाद भी न देखा गया और न ही दवा मिल सकी। धनेजा गांव निवासी सरिता ने कहा कि सीटी स्कैन कराने के लिए सुबह से फार्म लेकर दौड़ रही थी, लेकिन चिकित्सकों के अपने कक्ष में न बैठने से सीटी स्कैन नहीं हो सका। धनउर निवासी संतोष कुमार ने कहा कि शरीर में काफी दर्द है, बुखार भी है। काफी दूरी से बेहतर इलाज की उम्मीद से जिला अस्पताल आया था। घंटों खड़ा रहा इसके बाद इलाज नहीं हुआ। जब चिकित्सकों को छोड़कर जाना ही था तो पहले ही इसे बंद कर देते।


एसपी से मिले चिकित्सक, दुर्व्यवहार करने वालों पर मुकदमे की मांग
इसके साथ साथ जिला अस्पताल में बृहस्पतिवार को युवक की मौत के बाद चिकित्सक से दुर्व्यवहार से नाराज पीएमएस संघ का प्रतिनिधि मंडल शुक्रवार को एसपी अंकुर अग्रवाल से मुलाकात किया। डॉक्टरों ने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो वे अनिश्चितकालीन हड़ताल करेंगे। चिकित्सक के साथ दुर्व्यवहार से नाराज पीएमएस संघ की बैठक शुक्रवार को हुई। इसके बाद अध्यक्ष डॉ. राधेश्याम और सेक्रेटरी डॉ. संजय यादव के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल शुक्रवार को एसपी कैंप कार्यालय में एसपी अंकुर अग्रवाल से मुलाकात की।

 इस दौरान चिकित्सकों ने बृहस्पतिवार को इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर के साथ ग्रामीणों द्वारा किए गए दुर्व्यवहार को अवगत कराया और तत्काल उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। अध्यक्ष डॉ. राधेश्याम ने कहा कि ईएमओ डा. संजय कुमार के साथ ग्रामीणों द्वारा युवक की मौत के बाद दुर्व्यवहार किया यह ठीक नहीं है। आरोप निराधार है, चिकित्सक ने घायल व्यक्ति को बचाने का भरपूर प्रयास किया है। कहा कि आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाए। एसपी ने दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया। एसपी के आदेश बाद चिकित्सक चंदौली थाने पहुंचे और मुकदमा दर्ज करने के लिए तहरीर दी। इंस्पेक्टर संतोष सिंह ने बताया कि जांच के बाद मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

 इस दौरान डॉक्टर आरके वर्मा, डॉ. जेपी सिंह, डॉ. अनिल सुमन, डॉ. एनके सिंह, डॉ मनोज कुमार, डॉ संजय कुमार, डॉक्टर ए के सिंह डॉ ज्ञानेंद्र गुप्ता योगेंद्र पाल रहे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*