जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सरकारी आदेश मिलते ही 4 पेट्रोल पंपों पर छापा, जानिए किस तरह की हुयी कार्रवाई
चंदौली जिले में उत्तर प्रदेश शासन एवं खाद्य आयुक्त के आदेश के क्रम में पेट्रोल डीजल पंप ऊपर घटतौली और अपमिश्रण की शिकायतों की जांच के लिए विशेष अभियान चलाकर चंदौली जिले के 4 पेट्रोल पंपों पर छापेमारी की गई है
 

पेट्रोल पंप पर ₹10,000 का जुर्माना तथा दूसरे पेट्रोल पंप को नोटिस जारी की गई

पेट्रोल पंप के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जाएगी

चंदौली जिले में उत्तर प्रदेश शासन एवं खाद्य आयुक्त के आदेश के क्रम में पेट्रोल डीजल पंप ऊपर घटतौली और अपमिश्रण की शिकायतों की जांच के लिए विशेष अभियान चलाकर चंदौली जिले के 4 पेट्रोल पंपों पर छापेमारी की गई है। बताया जा रहा है कि इसमें एक पेट्रोल पंप पर ₹10,000 का जुर्माना तथा दूसरे पेट्रोल पंप को नोटिस जारी की गई है।

Officers Raid On Petrol Pumps Chandauli

 आपको बता दें कि शासनादेश के क्रम में जिला अधिकारी चंदौली में 22 अप्रैल को एक टीम गठित करके जिले के पेट्रोल पंप पर छापेमारी करने का निर्देश जारी किया था, जिसमें चकिया तहसील के उपजिलाधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी, पूर्ति निरीक्षक और क्षेत्राधिकारी के साथ-साथ आयल कंपनी के अधिकारी, निरीक्षक सहित अन्य अधिकारियों की टीम बनाई गई थी। इस टीम ने एक साथ औचक छापमारी करके 4 पेट्रोल पंपों की जांच की।

Officers Raid On Petrol Pumps Chandauli

जांच में मेसर्स किसान सेवा केंद्र, रामपुर की जांच पड़ताल की तो वहां गंभीर अनियमितता तो नहीं पाई गई, लेकिन आंशिक अनियमितता बरतने पर पंप पर  ₹10,000 का जुर्माना लगाया गया है। मेसर्स सत्य प्रकाश किसान सेवा केंद्र नेवाजगंज चकिया की जांच के दौरान जांच में सहयोग नहीं करने के कारण कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जवाब मिलने के बाद पेट्रोल पंप के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

इसके साथ साथ डोडापुर के मेसर्स प्रिंस फिलिंग स्टेशन और मुगलचक में मुगलचक के मेमर्स अलीनगर फिलिंग सेंटर के  स्टेशन में किसी भी प्रकार की कोई अनियमितता नहीं मिली है।

 जिला पूर्ति अधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह की ओर से जारी सूचना में पता चला है कि इस छापेमारी के दौरान पेट्रोल पंप में से दो पेट्रोल पंप पर कार्यवाही की गई है।  जिलापूर्ति अधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि जांच के दौरान एक पेट्रोल पंप पर अनियमितता मिलने पर दस हजार जुर्माना लगाया गया है। जबकि अन्य पेट्रोल पंपों की जांच के लिए आगे भी अभियान जारी रहेगा, जहां कहीं भी गड़बड़ी मिलेगी, वहां कार्रवाई जरूर की जाएगी।