जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
‘डॉक्टर से सुनिए’ कार्यक्रम में वेबलिंक से जुड़िये और अपनी बीमारियों के बारे में जानने का पाइए मौका
चंदौली जिले में स्वास्थ्य विभाग एक नई पहल करते हुए बड़ी संख्या में लोगों को एक ऐसा प्लेटफार्म मुहैया कराने जा रहा है, जिससे जुड़कर लोग बीमारियों के बारे में अपनी जानकारी बढ़ा सकते हैं
 
जुड़कर लोग बीमारियों के बारे में अपनी जानकारी बढ़ा सकते हैं

चंदौली जिले में स्वास्थ्य विभाग एक नई पहल करते हुए बड़ी संख्या में लोगों को एक ऐसा प्लेटफार्म मुहैया कराने जा रहा है, जिससे जुड़कर लोग बीमारियों के बारे में अपनी जानकारी बढ़ा सकते हैं । इसमें विशेषज्ञ बीमारियों के लक्षण, बचाव, जांच और उपचार की उपलब्ध व्यवस्था के बारे में पूरी जानकारी देंगे । 
 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन- उत्तर प्रदेश के महाप्रबन्धक- नियमित टीकाकरण डॉ. मनोज कुमार शुक्ल का कहना है कि इस पहल की शुरुआत शुक्रवार (22 अप्रैल) से हो रही है। इसके तहत अपरान्ह तीन बजे से शाम छह बजे तक वेबलिंक https://webcast.gov.in/up/helth के माध्यम से विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनिसेफ, बीएमजीएफ और स्वास्थ्य विभाग के कई विशेषज्ञ जुड़ेंगे और लोगों को विभिन्न स्वास्थ्य कार्यक्रमों और बीमारियों से जुड़ी हर छोटी-बड़ी जानकारी अपने व्याख्यान के माध्यम से देंगे । इस लिंक को क्लिक करके आप सीधे ‘डाक्टर से सुनिए’ कार्यक्रम से जुड़ सकते हैं और बीमारियों के बारे में जानकारी जुटा सकते हैं । 

कार्यक्रम से अधिक से अधिक लोगों के जुड़ने को लेकर इस वेबलिंक का व्यापक प्रचार-प्रसार फ्रंटलाइन वर्कर के साथ ही मीडिया के माध्यम से किया गया है । इस पहल के तहत सबसे अधिक जोर है कि फ्रंट लाइन वर्कर आशा-आंगनबाड़ी, एएनएम आशा संगिनी, सीएचओ के साथ ही अन्य स्वास्थ्य कर्मी खुद जुड़ें और वह अपने साथ समुदाय से भी संख्या में बड़ी संख्या में लोगों को जोड़ें ताकि एक साथ बड़ी आबादी को बीमारियों के बारे में जागरूक किया जा सके। 

इस संबंध में सभी एएनएम, सीएचओ, संगिनी, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को अपने टैबलेट, स्मार्ट फोन, लैपटॉप/डेस्क टॉप के माध्यम से लिंक से जुड़ने और समुदाय के पांच से दस लाभार्थियों एवं अभिभावकों को प्रसारण से जोड़ने के निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य कर्मी अपने साथ प्रसारण में जोड़े गए लाभार्थियों के साथ सेल्फी लेकर स्थानीय व्हाट्सएप ग्रुप पर अपलोड करेंगे। जिलों से ऐसे ही चयनित फोटोग्राफ प्रादेशिक व्हाट्सएप ग्रुप व सोशल मीडिया पर अपलोड किया जाएगा।

 कार्यक्रम के सजीव प्रसारण के दौरान एनआईसी में मौजूद फ्रंटलाइन वर्कर, लाभार्थी व स्वास्थ्यकर्मी बीमारियों के बारे में जानकारी दे रहे विषय विशेषज्ञ से सवाल कर सकते हैं और अपना अनुभव साझा कर सकते हैं । ज्ञात रहे कि इसमें जो सवाल पूछे जायेंगे वह एनआईसी के माध्यम से वरिष्ठ अधिकारियों को भेजे जायेंगे जो सवालों को शार्टलिस्ट करते हुए विशेषज्ञ को भेजेंगे ताकि उनमें दोहराव की गुंजाइश न रहे ।  

कार्यक्रम के विशेषज्ञ 

डॉ. देवेन्द्र खंडैत- डिप्टी डायरेक्टर-बीएमजीएफ, डॉ. विकासेंदु अग्रवाल – राज्य सर्विलांस अधिकारी, संगीता सिंह- सीईओ- साचीस, डॉ. मिथिलेश चतुर्वेदी- पूर्व महानिदेशक- चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, डॉ. अजय घई- राज्य टीकाकरण अधिकारी, डॉ. वंदना सिंह-टीएसयू, डॉ. कनुप्रिया सिंघल-यूनिसेफ, डॉ. अर्पित पटनायक-पाथ, डॉ. मधुप बाजपेयी-डब्ल्यूएचओ। 

इन स्वास्थ्य मुद्दों पर होगी बात 
स्वास्थ्य विभाग का बुनियादी ढांचा एवं एम्बुलेंस सेवाएं, वेक्टर जनित रोग- मलेरिया, डेंगू, स्क्रब टाइफस और जेई, हीट स्ट्रोक, डायरिया डिसेंट्री, स्वच्छ पेयजल, कोविड महामारी, गर्भवती का प्रसव पश्चात प्रबन्धन, नवजात शिशुओं की प्रथम 28 दिनों में देखभाल, आयुष्मान भारत योजना, कोविड-19, गर्भवती की प्रसव पूर्व जांच एवं प्रबन्धन, नियमित टीकाकरण सेवाएं एवं कोविड टीकाकरण।