जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अमृत महोत्सव अभियान में 75 तालाबों का होगा कायाकल्प, PM की पहल पर जागा सरकारी महकमा
चंदौली जिले के अफसर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंचायती राज दिवस के मौके पर प्रत्येक जिले में तालाबों की खुदाई की घोषणा के बाद जनपद स्तर पर क्रियान्वयन कराने के लिए पंचायत अमल की कार्रवाई में जुट गये हैं
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंचायती राज दिवस के मौके पर प्रत्येक जिले में तालाबों की खुदाई की घोषणा की

जनपद में 75 तालाबों की खोदाई करने की योजना जनपद के विकास विभाग की ओर से बनाई

चंदौली जिले के अफसर  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंचायती राज दिवस के मौके पर प्रत्येक जिले में तालाबों की खुदाई की घोषणा के बाद जनपद स्तर पर क्रियान्वयन कराने के लिए पंचायत अमल की कार्रवाई में जुट गये हैं। यही नहीं मुख्य विकास अधिकारी की मानें तो अमृत महोत्सव के तहत जनपद के सभी विकास खंडों में लगभग 75 तालाबों की खुदाई करवाकर तालाबों के सुंदरीकरण के साथ-साथ कैच द रेन अभियान को सफल बनाने का काम किया जाएगा। इसको मनरेगा से कवर करने की योजना बनाई गई है। इस पर अमल भी शुरू हो गया है।

Panchayati Raj Diwas 2022 PM Modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंचायती राज दिवस के मौके पर हर जिले में तालाब की खुदाई करने की घोषणा की थी। जनपद में 75 तालाबों की खोदाई करने की योजना जनपद के विकास विभाग की ओर से बनाई गई है। उक्त तालाबों को अमृत तालाब बनाए जाएंगे जहां पर वाटर रिचार्ज के लिए कैच द रेन के तहत मनरेगा से सुंदरीकरण के साथ-साथ वहां पर घाट,रैंप, क म्युनिटी हॉल की व्यवस्था की जाएगी। यही नहीं तालाबों के भीटे पर वृक्षारोपण का कार्य किया जाएगा इसमें प्रमुख रूप से पीपल, बरगद व नीम के पौधों की प्राथमिकता होगी। 

तालाबों पर रैंप के साथ सुंदरीकरण का कार्य पंचायत राज विभाग की ओर से किया जाएगा यहां पर शौचालय के साथ-साथ सभी सुविधाएं भी उपलब्ध है। यही नहीं स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों के माध्यम से राष्ट्रीय पर्व पर ध्वजारोहण का भी कार्य किया जाएगा और इसे अमृत महोत्सव के रूप में मनाया जाएगा। इसके लिए सरकार की ओर से मनरेगा और वित्त आयोग के संयुक्त प्रयास से एस्टीमेट बनाकर जल्द ही शासन को भेजा जाएगा, ताकि इस पर अमल किया जा सके।

आपको बता दें कि फिलहाल कागजी रिकॉर्ड में चंदौली जिले में एक हजार से अधिक तालाब है। जहां पर तीन वर्ष पर एक बार तालाबों का जीर्णोद्धार मनरेगा के तहत कराया जाता है, ताकि तालाब की सुंदरता बनी रहे पिछले वर्ष 247 तालाबों के सुंदरीकरण के लिए 322 लाख रुपए मुक्त किए गए थे। जहां मनरेगा के तहत तालाबों पर सुंदरीकरण व अन्य कार्य कराए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आह्वान के बाद जनपद में 87 तालाबों को चिह्नित कर उनके जीर्णोद्धार कराए जाने की पहल है। अभियान चलाकर तालाबों को अतिक्रमण से मुक्त कराया जाएगा और उनके सुंदरीकरण का कार्य मनरेगा और वित्त विभाग की ओर से कराए जाएंगे ताकि समाप्त हो चुके तालाबों को पुन: तालाबों को मूल स्वरूप में लाया जा सके।

केंद्र सरकार की पहल पर भूगर्भ जल के स्तर को सुधारने के लिए जनपद में क्रियान्वयन की कार्यवाही शुरू कर दी गई है। इसके लिए कैच द रेन प्रणाली विकसित की जा रही है, ताकि भूगर्भ जल का स्तर जनपद में बना रहे। यही नहीं वर्षा के जल बेकार ना जाए इसके लिए भी तालाबों पर व्यवस्था सरकार के निर्देश पर किया जा रहा है। जनपद के सभी खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि अपने अपने क्षेत्र में सरकारी जमीनों को चिह्नित कर तालाब की खुदाई की प्रक्रिया को पूर्ण करे।

चंदौली जिले में तालाब खोदाई के योजना को अमलीजामा पहनाने के लिए हर ग्राम पंचायत में कर्मचारियों की तीन सदस्यीय टीम गठित होगी। हर सप्ताह दो दिन विशेष अभियान चलेगा। जिलाधिकारी संजीव सिंह ने निर्देश जारी किया है। जिले में लगभग एक हजार तालाब हैं। हालांकि मौके पर बहुत कम बचे हैं। कई गांवों में सार्वजनिक तालाबों पर सुनियोजित कब्जे की वजह से इनका अस्तित्व समाप्त होने के कगार पर पहुंच गया है। इन्हें चिह्नित करने के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की गई है।

चंदौली जिले के मुख्य विकास अधिकारी अजितेंद्र नारायण का कहना है कि जनपद में प्रधानमंत्री के निर्देश पर 75 अमृत तालाब बनाए जाने की योजना है। सभी खंड विकास अधिकारियों से स्थान चिह्नित कर इसकी सूचना देने का निर्देश दिया गया है। जल्द ही इस योजना को क्रियान्वित किया जाएगा। इससे कई तालाबों का कायाकल्प हो जाएगा।