जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
अब SDM सदर करेंगे मनराजपुर कांड की मजिस्ट्रेट जांच, आ गया साहब का आदेश
चंदौली जिले के सैयदराजा थाना के मनराजपुर गांव में पुलिस दबिश के दौरान कन्हैया यादव की पुत्री निशा यादव (24 साल) की मौत की घटना को लेकर गरमा रही राजनीति में एक नया मोड़ आया है। जिलाधिकारी ने मामले में मजिस्ट्रेट से जांच कराने का आदेश जारी
 

मौत की घटना को लेकर गरमा रही राजनीति में एक नया मोड़ आया

सरकार व प्रशासन पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है

चंदौली जिले के सैयदराजा थाना के मनराजपुर गांव में पुलिस दबिश के दौरान कन्हैया यादव की पुत्री निशा यादव (24 साल) की मौत की घटना को लेकर गरमा रही राजनीति में एक नया मोड़ आया है। जिलाधिकारी ने मामले में मजिस्ट्रेट से जांच कराने का आदेश जारी करके अपनी ओर से जांच की एक और पहल की है। 

इस मामले में जिलाधिकारी संजीव सिंह ने सदर एसडीएम अविनाश कुमार को जांच अधिकारी नियुक्त करते हुए 15 दिनों के अंदर जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। घटना की उच्च स्तरीय जांच और सीबीआई जांच कराने की मांग को लेकर सपा व अन्य राजनीतिक दलों ने सरकार व प्रशासन पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। 

cbi janch

आपको याद होगा कि एक मई को सैयदराजा पुलिस मनराजपुर गांव में कन्हैया यादव को पकड़ने के लिए गई थी। दबिश के दौरान आरोपी की बेटी निशा यादव की मौत हो गई थी। इसको लेकर पुलिस पर हत्या के गंभीर आरोप लगे थे। हालांकि एसपी के निर्देश पर एएसपी घटना की जांच कर रहे हैं। इस पर विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं ने आरोप लगाए कि पुलिस के खिलाफ पुलिस ही जांच करेगी तो पारदर्शिता व निष्पक्षता कैसी रहेगी। इसी बात पर अब जिलाधिकारी ने घटना की मजिस्ट्रियल जांच का निर्देश दिया है। उन्होंने सदर एसडीएम को जांच अधिकारी नियुक्त किया है। 

कहा जा रहा है कि विभाग के द्वारा इसके लिए पुलिस विभाग व नगर पंचायत प्रशासन सैयदराजा सहित तमाम जगहों पर सूचना का प्रसार कराया जा रहा है और इसकी जानकारी नगर पंचायत सैयदराजा कार्यालय के नोटिस बोर्ड पर भी नोटिस चस्पा की जाएगी। यदि कोई भी व्यक्ति घटना के बाबत साक्ष्य प्रस्तुत करना चाहता है तो 17 मई तक उप जिला मजिस्ट्रेट सदर के दफ्तर में साक्ष्य प्रस्तुत कर सकता है। अधिकारी जांच के दौरान अपने विवेक से बयानों व सबूतों को जांच का आधार बना सकते हैं।