जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
जब सस्पेंड हुए सैयदराजा थाना प्रभारी उदय प्रताप तब बनी बात, हत्या मुकदमा भी होगा दर्ज
चंदौली जिले के सैयदराजा थाने के जिला बदर व गैंगस्टर के अपराधी के खिलाफ जारी एनबीडब्ल्यू के मामले में अपराधी के घर मनराजपुर में दबिश देने पहुंचे सैयदराजा एसएचओ उदय प्रताप सिंह के खिलाफ कार्रवाई के बाद गांव में चल रहा हंगामा थमा
 
उदय प्रताप सिंह के खिलाफ कार्रवाई के बाद गांव में चल रहा हंगामा

 चंदौली जिले के सैयदराजा थाने के जिला बदर व गैंगस्टर के अपराधी के खिलाफ जारी एनबीडब्ल्यू के मामले में अपराधी के घर मनराजपुर में दबिश देने पहुंचे सैयदराजा एसएचओ उदय प्रताप सिंह के खिलाफ कार्रवाई के बाद गांव में चल रहा हंगामा थमा। पुलिस की उनकी टीम के खिलाफ मामले में हत्या का मुकदमा भी दर्ज होगा। 

सैयदराजा थाने के प्रभारी अपनी टीम के साथ कन्हैया यादव के घर पहुंचे थे। घर में कन्हैया के न होने के बाद भी दो लड़कियों के साथ पुलिस की टीम द्वारा की गयी मारपीट व हाथापायी के बाद एक लड़की की मौत होने की सूचना मिलने के बाद पुलिस बैकफुट पर दिखायी देने लगी। मौके पर भारी संख्या में आसपास के लोग इकट्ठा हो गए और पुलिस की कार्रवाई के दौरान लड़की की मौत के बाद हंगामा बढ़ने लगा। 

 इस दौरान धरना प्रदर्शन करने वाले लोग सैयदराजा जमानिया मार्ग को जाम कर दिया और रास्ते से गुजर रही एंबुलेंस और पुलिस की पैंथर गाड़ी में भी तोड़फोड़ की। इस दौरान पुलिस के सिपाही पैंथर गाड़ी छोड़ कर भाग खड़े हुए तथा पुलिसकर्मी व एक होमगार्ड पर अपना गुस्सा उतारा, जिसमें दोनों जख्मी हो गए। 

बवाल बढ़ने के बाद मौके पर पहुंची भारी संख्या में पुलिस बल के जवान व आला अफसर किसी तरह मामले को शांत करने में जुटे रहे, लेकिन पुलिस को सफलता तब मिली जब सपा के पूर्व सांसद रामकिशुन यादव व सकलडीहा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव सहित अन्य छोटे-बड़े नेता पहुंचकर दोनों पक्षों की बातचीत कराने का माहौल बनाया। 

गांव व परिवार के लोग तत्काल सैयदराजा थाना प्रभारी उदय प्रताप को निलंबित करते हुए उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग पर अड़े रहे। इस पर आईजी वाराणसी ने घर परिवार के लोगों के द्वारा दी गयी तहरीर के अनुसार मुकदमा दर्ज करने तथा सैयदराजा थाना प्रभारी को निलंबित करने के बाद ही परिजनों ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए देने पर सहमति दी। साथ ही घायल दूसरी लड़की को इलाज के लिए अस्पताल भेजने की कार्यवाही की गई।

 इस दौरान मौके पर आईजी के सत्यनारायण, डीएम संजीव सिंह, एसपी अंकुर अग्रवाल सहित कई थानों के थानेदार व पुलिस के आला अफसर मौके पर मौजूद रहे।