जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
NBW जारी होने के बाद पूर्व सांसद व विधायक समेत कई नेताओं को मिली जमानत, जानिए मामला
इस दौरान अधिवक्ता अशफाक अहमद, अजय मौर्या व सुनील सिंह मुखिया ने सपा नेताओं का पक्ष रखते हुए सभी की जमानत मंजूर कराई।
 

तारीख पर पेश होना भूल गए थे सपा नेता

NBW जारी होते ही मची हड़कंप तो की कार्रवाई

ऐसे मिली सबको जमानत

चंदौली जिले में कोविड काल में दर्ज मुकदमे में कोर्ट में सुनवाई के दौरान लगातार गैरहाजिर चल रहे आरोपी सपा नेताओं को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी किया तो वह सक्रिय हो गए। इससे बुधवार को न्यायालय में सुनवाई के दौरान पूर्व सांसद रामकिशुन यादव, पूर्व विधायक पूनम सोनकर, सपा जिलाध्यक्ष सत्यनरायन राजभर, महासचिव नफीस अहमद , पूर्व जिलाध्यक्ष बलिराम यादव, संतोष यादव व पूर्व प्रमुख बाबूलाल के अधिवक्ता उपस्थित हुए और उनकी जमानत करवायी। 

बताया जा रहा है कि इस दौरान अधिवक्ता अशफाक अहमद, अजय मौर्या व सुनील सिंह मुखिया ने सपा नेताओं का पक्ष रखते हुए सभी की जमानत मंजूर कराई। न्यायालय ने सपा नेताओं को 20 हजार रुपये की जमानत राशि का बंध पत्र लेकर जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया।

आपको याद होगा कि कोविड -19 काल में समाजवादी पार्टी के नेताओं ने चंदौली में किसान बेरोजगार हुंकार भरो पदयात्रा निकाली थी। इसपर चंदौली कोतवाली पुलिस ने सपा के पूर्व सांसद रामकिशुन यादव, पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू, पूर्व विधायक पूनम सोनकर, जिलाध्यक्ष सत्यनारायन राजभर, पूर्व प्रमुख बाबूलाल यादव, मनोज सिंह काका, बलिराम यादव समेत 500 अज्ञात सपाइयों के खिलाफ धारा -188, 269,270 आईपीसी के साथ ही महामारी अधिनियम -1897 की धारा -3 और अपदा प्रबंधन अधिनियम -2005 की धारा -54 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। 

बताया जा रहा है कि इस मामले में सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू पहले ही न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत होकर जमानत पर रिहा हो गए थे। वहीं मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने सपा के अन्य नेताओं के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी करते हुए 21 सितंबर को सुनवाई के दौरान न्यायालय में उपस्थित होने का आदेश दिया था। पर नेताओं को यह बात याद ही नहीं रही। लेकिन गैर जमानती वारंट जारी होने के बाद बुधवार को पूर्व सांसद सहित अन्य सपाइयों ने अधिवक्ता के जरिए अपना पक्ष रखा, तब जाकर जमानत मिली। इस पर न्यायालय ने सभी सपा नेताओं को 20 हजार रुपये के जमानत पार रिहा कर दिया।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*