जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सावन का तीसरा सोमवार आज, शिवालयों में जुट रहे हैं श्रद्धालु, चाक चौबंद है सुरक्षा व्यवस्था
चंदौली जिले के तमाम रेलवे स्टेशनों पर कांवड़ियों की भीड़ देखी जा रही है। पीडीडीयू नगर जंक्शन, चंदौली मझवार, कुछमन, सकलडीहा, सैयदराजा रेलवे स्टेशन से कांवड़ियों का जत्था बाबा धाम के लिए सुबह ही रवाना होने लगा है। बाबा के जयकारे स्टेशन परिसर गुंजायमान हो रहा है।
 

चंदौली जिले में सावन के सोमवार पर भीड़

सुबह से मंदिरों में उमड़ रहे श्रद्धालु

बाबा भोलेनाथ की कर रहे हैं आराधना

चंदौली जिले में सावन माह के तीसरे सोमवार को दर्शन-पूजन व जलाभिषेक के लिए रविवार को शिवालयों की सफाई करके सजाने-संवारने का सिलसिला देर तक जारी रहा। सोमवार की सुबह से इन मंदिर में श्रद्धालु पहुंचने लगे हैं। यहां वे श्रद्धा पूर्वक बाबा भोलेनाथ की आराधना कर रहे हैं और उनसे सुख व समृद्धि का आशीर्वाद मांग रहे हैं।

लोगों की भीड़ देखते हुए पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था कर ली है। प्रमुख शिवालयों में सीसीटीवी कैमरे से प्रत्येक गतिविधि की निगरानी की जा रही है। पुलिस व प्रशासन के उच्चाधिकारियों ने शिवालयों का जायजा ले रहे हैं ताकि किसी प्रकार की श्रद्धालुओं को परेशानी न हो। दर्शन-पूजन के लिए व्यवस्था व सुरक्षा के पहलुओं का अवलोकन कर अधीनस्थों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।

चंदौली जिले के तमाम रेलवे स्टेशनों पर कांवड़ियों की भीड़ देखी जा रही है। पीडीडीयू नगर जंक्शन, चंदौली मझवार, कुछमन, सकलडीहा, सैयदराजा रेलवे स्टेशन से कांवड़ियों का जत्था बाबा धाम के लिए सुबह ही रवाना होने लगा है। बाबा के जयकारे स्टेशन परिसर गुंजायमान हो रहा है। 

मुगलसराय नगर में भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगा दी गई है। सकलडीहा में श्रीकाशी विश्वनाथ ट्रस्ट से संबद्ध कालेश्वर मंदिर बरठी व चकिया के जागेश्वरनाथ मंदिर में भी तैयारी पूरी कर ली गयी है। यहां पर भीड़ उमड़ रही है। 

mahadev 2

बताया जा रहा है कि इन मंदिरों के लिए अधिकारियों ने रविवार को इन शिवालयों की व्यवस्था का जायजा लिया था, ताकि सोमवार को जलाभिषेक में श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी न हो। साथ ही सुरक्षा के लिए अधीनस्थों को जरूरी निर्देश भी दिए थे।

सारे मंदिरों में सीसीटीवी कैमरे प्रत्येक गतिविधि की निगरानी करने के साथ साथ सादे वेश में भी महिला व पुरुष पुलिसकर्मी परिसर में चक्रमण करने की व्यवस्था है। पैदल कावड़ियों को जलाभिषेक के दौरान कोई समस्या न हो सके, इसके अलावा मंदिर परिसर में बैरिकेडिंग की गई है। महिला व पुरुष श्रद्धालु अलग-अलग रास्ते से गर्भगृह में पहुंच रहे हैं और पूजा-अर्चना व जलाभिषेक कर रहे हैं।

 शिकारगंज के जागेश्वरनाथ मंदिर के गर्भगृह में पांच व्यक्तियों को ही एक बार प्रवेश कराया जा रहा है। दर्शन- पूजन के बाद श्रद्धालुओं को मंदिर से बाहर निकलने के लिए परिसर के दूसरे बड़े गेट से व्यवस्था की गई है। उत्तर दिशा के छोटे गेट को पूरी तरह बंद रखा गया है। पार्किंग मंदिर के मुख्य गेट से लगभग तीन सौ मीटर दूर व्यवस्था की गयी है। 

एसपी अंकुर अग्रवाल ने बताया कि मंदिर परिसर सहित मेला क्षेत्र में एक प्लाटून पीएसी व 60 पुलिसकर्मी सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं। इसी तरह चहनियां, धानापुर, कमालपुर, कंदवा, सैयदराजा, नियामताबाद, बबुरी, इलिया, बरहनी, शहाबगंज सहित अन्य इलाकों में स्थित शिवालयों पर भीड़ आ रही है। इन शिवालयों में भी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*