जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
पायल और बिछिया गटक गए मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अधिकारी, महिलाओं ने की शिकायत
सदर ब्लॉक में तैनात एडीओ अरुण कुमार के द्वारा जबरिया कागज पर हस्ताक्षर करा लिया गया है जबकि उन्हें पायल और बिछिया नहीं दिया गया।
 

सदर ब्लॉक के एडीओ अरुण कुमार पर आरोप

विधायक व जिलाधिकारी की मौजूदगी में हुयी थी शादी

3 महीने से नहीं मिला है सामान 

चंदौली में सरकारी योजना में शासन की मंशा फेल करने व सरकार की बदनामी कराने में कई अधिकारी व कर्मचारी लगे रहते हैं। वहीं लाभार्थियों का हक मारकर अपनी जेब भरने का अक्सर रास्ता खोजते रहते हैं। मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत लाभार्थियों को मिलने वाली सुविधाओं में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार होने का ताजा मामला जिलाधिकारी के कार्यालय तक जा पहुंता है। 

इस दौरान लाभार्थियों ने डीएम कार्यालय में ज्ञापन देकर आरोप लगाया है कि सदर ब्लॉक में तैनात एडीओ अरुण कुमार के द्वारा जबरिया कागज पर हस्ताक्षर करा लिया गया है जबकि उन्हें पायल और बिछिया नहीं दिया गया। लोगों ने मामले की जांच कराने की मांग की है।

Mukhyamantri Vivah Yojana

दरअसल बीते 10 जून को जिला प्रशासन के द्वारा सदर ब्लाक परिसर में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें अधिकारियों के द्वारा 98 जोड़ों की शादी कराई गई थी। कार्यक्रम में बतौर अतिथि मुगलसराय विधायक रमेश जायसवाल और जिलाधिकारी संजीव सिंह भी पहुंचे थे। वर-वधू को आशीर्वाद देकर उनके मांगलिक जीवन की शुभकामनाएं दी।


शादी संपन्न होने के लगभग 3 महीने बाद इसमें बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार का जिन्न बाहर आ गया है। आरोप है कि लाभार्थियों से एडीओ अरुण कुमार के द्वारा कागज पर हस्ताक्षर कराने के बाद पायल और बिछिया नहीं दिया गया। जबकि लाभार्थी सुविधाओं का लाभ लेने के लिए बार-बार सरकारी कार्यालयों का चक्कर काटते रहे। 

शिकायत करने वालों का कहना है कि जिस कार्यक्रम में विधायक व जिलाधिकारी शामिल हुए हों उसमें यह हाल है तो जिले में बाकी जगहों का हाल अपने आप समझा जा सकता है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*