जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
स्वयं के खर्च से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पार्क तथा शहीद उद्यान का निर्माण कराएंगे रामनिवास पांडेय
उसरी ग्राम निवासी 84 वर्षीय श्री पांडेय शुरू से क्रांतिकारी विचारधारा से ताल्लुक रखते हैं। और जीवन पर्यंत गरीबों व मजदूरों के हक की लड़ाई लड़ते आ रहे हैं।
 

उसरी गांव निवासी लोकतंत्र सेनानी रामनिवास पांडेय की पहल

भूमि के लिए जिला प्रशासन से मांगी परमीशन

देख लीजिए कैसे चल रही कार्रवाई  

चंदौली जिला के शहाबगंज विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत शाहपुर के उसरी गांव निवासी लोकतंत्र सेनानी रामनिवास पांडेय शहीदों के नाम पर अपने खर्च से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पार्क तथा शहीद उद्यान का निर्माण कराएंगे। जिसके लिए उन्होंने जिला तथा तहसील प्रशासन से गांव के खाली पड़े भूमि आराजी नंबर 58 में स्वीकृति का अपील किया है। साथ ही क्षेत्र के सम्मानित जनों से सहयोग का मांगा है।

  आपको बता दें कि उसरी ग्राम निवासी 84 वर्षीय श्री पांडेय शुरू से क्रांतिकारी विचारधारा से ताल्लुक रखते हैं। और जीवन पर्यंत गरीबों व मजदूरों के हक की लड़ाई लड़ते आ रहे हैं। इसी समाज सेवा की वजह से तीन दशक पूर्व गांव की जनता ने उन्हें लगातार दो बार प्रधान बनाकर अपना नेतृत्व सौंपा। उसके बाद उन्होंने चुनाव न लड़ने का फैसला कर समाज सेवा को जारी रखा। और क्रांतिकारी आंदोलनों में बढ़-चढ़कर भाग निभाने का कार्य लगातार करते आ रहे हैं। वर्ष 1975 की इमरजेंसी में उन्होंने कांग्रेसी सरकार की यातनाएं झेली और जेल में बंद रहे जिस पर उन्हें पूर्व की सरकार ने लोकतंत्र सेनानी घोषित किया।

 Ram Niwas Pandey

  क्रांतिकारी विचारधारा से ताल्लुक रखने वाले श्री पांडेय राष्ट्रीय कार्यक्रम आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष में सांसद और विधायक की संस्तुति पर तहसील रिपोर्ट के अनुसार उसरी के आराजी नंबर 58 के तालाब की भींटे की खाली भूमि पर अपने खर्च से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पार्क तथा शहीद उद्यान निर्माण का बीड़ा उठाया है। 

जिसमें चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोष, मंगल पांडेय तथा वर्ष 1994 में पाकिस्तान की गोलाबारी सीमा पर शहीद हुए ग्राम पंचायत शाहपुर निवासी फौजी शहीद अरुण पाल के प्रतिमा को स्थापित किया जाएगा। जिसके लिए उन्होंने जिला तथा तहसील प्रशासन से भूमि के स्वीकृति का अपील किया है तथा क्षेत्र के सम्मानित जनों से सहयोग का मांगा है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*