जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सिकंदरपुर में नहीं चला सत्तापक्ष का धनबल, डॉक्टर नंदकिशोर ने मारी बाजी, भाजपा चारो खाने चित
बीडीसी पद के लिए हुए उपचुनाव में सबसे अधिक प्रतिष्ठित सीट सिकंदरपुर की रही है। यहां कुल 3 प्रत्याशी मैदान में रहे, लेकिन सीधा मुकाबला डॉ नंदकिशोर और नाज़नीन बानो के ही बीच रहा।
 

जनता की नहीं पसंद आया भाजपा का वायदा

 छत्रबली सिंह का जादू भी हो गया फेल 

चंदौली जिला के चकिया विकासखंड में बीडीसी पद के लिए हुए मतदान के चुनाव परिणाम आने के बाद सिकंदरपुर ग्राम पंचायत में बीडीसी पद के उम्मीदवार डॉ नंदकिशोर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी नाज़नीन बानो को हराकर एक नया संदेश देने का काम किया है। जिले के सारे दिग्गजों के साथ साथ तमाम तरह के हथकंडे अपनाने के बाद भी भाजपा इस सीट पर जीत हासिल नहीं कर सकी। उसे 188 मतों से पराजय का सामना करना पड़ा। वहीं उतरौत गांव में काजल मौर्या ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी मनोज मौर्य को 247 मतों से चुनाव में हराया कर सीट अपने खाते में डाल ली है।

आपको बता दें कि अबकी बार बीडीसी पद के लिए हुए उपचुनाव में सबसे अधिक प्रतिष्ठित सीट सिकंदरपुर की रही है। यहां कुल 3 प्रत्याशी मैदान में रहे, लेकिन सीधा मुकाबला डॉ नंदकिशोर और नाज़नीन बानो के ही बीच रहा।

 सिकंदरपुर की सीट को सबसे अधिक प्रतिष्ठित इसलिए माना जा रहा है कि यहां पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष एवं जिले के धनबली कहे जाने वाले छत्रबली सिंह ने अपनी प्रतिष्ठा बनाकर नाज़नीन बानो के पक्ष में चुनाव प्रचार में उतरा था। वहीं सत्ता पक्ष भारतीय जनता पार्टी के भी दिग्गज नाज़नीन बानो को चुनाव जिताने के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी। लेकिन यहां की प्रतिष्ठा बने सीट पर मतदाताओं ने धनबल के साथ साथ सत्तापक्ष के सारे हथकंडे को नकार दिया। माना जा रहा है कि डॉ नंदकिशोर को हिंदू मतों का लाभ मिला और वह नाज़नीन बानों को 374 मतों के मुकाबले 562 मत पाने में कामयाब रहे।

 इस प्रकार डॉ नंदकिशोर 188 मतों से चुनाव जीतकर विजयी घोषित हुए। वहीं उतरौत में हुए बीडीसी चुनाव में काजल मौर्य को जहां 533 मत मिले, वहीं मनोज मौर्य को मात्र 286 मत ही प्राप्त हुए। इस प्रकार काजल मौर्य को 247 मतों से विजयी रहीं। दोनों विजयी प्रत्याशियों को एआरओ द्वारा प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*