जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
पॉक्सो कोर्ट में चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में तीनों आरोपियों की पेशी, फास्ट ट्रैक कोर्ट की तर्ज पर चलेगा मुकदमा
मामले की गंभीरता को देखते हुए और फास्ट ट्रैक कोर्ट की तर्ज पर छह महीने में ही पूरी सुनवाई हो जाने की उम्मीद है।
 



चंदौली जिले में चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में वृहस्पतिवार को पॉक्सो कोर्ट में तीनों आरोपियों की पेशी हुयी। अजित कुमार, अजय गुप्ता और अवनीश कुमार की मामले में पेशी हुई, लेकिन मुख्य आरोपी रामभवन कोर्ट में पेश न हो सका। अब उसके लिए 9 सितंबर को पेश होने के लिए नोटिस जारी किया गया है।

मामले व कार्यवाही की जानकारी देते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता शमशेर सिंह ने बताया कि मामले की गंभीरता को देखते हुए और फास्ट ट्रैक कोर्ट की तर्ज पर छह महीने में ही पूरी सुनवाई हो जाने की उम्मीद है।

जिला शासकीय अधिवक्ता शमशेर सिंह ने बताया सीबीआई की टीम ने स्वत: संज्ञान लेते हुए कार्रवाई की थी। बच्चों की पोर्न क्लिप बनाकर उसे बाजार में बेचे जाने की सूचना पर सीबीआई ने कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर जांच की शुरु की। सीबीआई अपनी जांच के क्रम बच्चों की क्लिप को लेकर चंदौली पहुंची तो उन्होंने उन मासूमों के परिवार वालों से मुलाकात की और पूरे प्रकरण के बारे में बताया। 

इस मामले में चंदौली जिले के सकलडीहा इलाके के रहने वाले अजय कुमार गुप्ता और धानापुर के आवाजापुर की एक आईटीआई में काम करने वाले अविनाश कुमार सिंह गरीब बच्चों को टारगेट करते थे। बताया कि बच्चों को वीडियो गेम खिलाने के जरिए उन्हें अपने यहां बुलाते थे। इसके बाद जब बच्चे वीडियो गेम खेलने में मशगूल रहते तब ये लोग उनके साथ गलत हरकत कर उसका वीडियो शूट करते थे। बच्चों के पोर्न वीडियो विदेशों में बेचकर करोड़ों रुपये कमाते थे।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*