जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
गुरुजी नहीं आएं तो टोल फ्री नंबर पर लगाएं फोन, टोल फ्री नंबर 18001800166 जारी
अब परिषदीय विद्यालयों में अध्यापकों के समय से न पहुंचने व गायब रहने की शिकायत अभिभावक खुद कर सकेंगे। इसके लिए उनको केवल एक छोटी सी मशक्कत करनी होगी।
 

कायाकल्प योजना के तहत पहल

अभिभावकों के सक्रिय होने की जरुरत

टोल फ्री नंबर को विद्यालयों की दीवारों पर लिखा जाना अनिवार्य

चंदौली जिले में कायाकल्प योजना के तहत जहां परिषदीय विद्यालयों में आधारभूत संरचनाओं को मजबूत किया जा रहा है। वहीं अब शासन की ओर से बच्चों की पढ़ाई सुचारू रूप से हो, इसके लिए शिक्षकों की विद्यालय में समय से उपस्थिति भी सुनिश्चित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। इसके लिए अभिभावकों के सक्रिय होने की जरुरत है, क्योंकि अब परिषदीय विद्यालयों में अध्यापकों के समय से न पहुंचने व गायब रहने की शिकायत अभिभावक खुद कर सकेंगे। इसके लिए उनको केवल एक छोटी सी मशक्कत करनी होगी।

मनमाने अध्यापकों पर लगाम लगाने के लिए शासन की मंशा को देखते हुए विभाग की ओर से टोल फ्री नंबर जारी किया गया है। इस टोल फ्री नंबर को विद्यालयों की दीवारों पर लिखा जाना है। ताकि जनता इस पर गैरहाजिर व देर से आने वाले शिक्षकों की शिकायत कर सके।

Toll Free No School Complain

आपको बता दें कि जनपद में कुल 359 कंपोजिट विद्यालय सहित कुल 1185 प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय संचालित हैं। शिक्षकों के देर से पहुंचने, समय से पूर्व विद्यालय बंद करने, बगैर सूचना के विद्यालय से शिक्षकों के गायब रहने तथा मध्याह्न भोजन गुणवत्तापूर्ण नहीं मिलने की शिकायत अक्सर सुनने को मिलती है। अधिकारियों के औचक निरीक्षण में भी शिक्षक अनुपस्थित मिलते हैं। हर दिन तो निरीक्षण संभव नहीं है। ऐसे में शासन ने टोल फ्री नंबर 18001800166 जारी किया है। यह नंबर हरेक परिषदीय विद्यालयों के दीवार पर लिखा जाएगा। इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति शिक्षकों के विद्यालय नहीं आने सहित विद्यालय से जुड़ी अन्य तरह की शिकायत कर सकता है। 

टोल फ्री नंबर पर दर्ज शिकायतों को रिकार्ड भी किया जाएगा। शिकायतों की जांच के लिए कमेटी गठित होगी और जांच में गड़बड़ी मिलने पर दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। कई दिन पहले आदेश आने के बावजूद भी हैरत की बात यह है कि अभी तक जनपद के परिषदीय विद्यालयों की दीवारों पर नंबर नहीं लिखा जा सका है।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*