जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
बैंक खाता आधार से लिंक न होने से खाते में नहीं जा रहा पैसा, 28 हजार बच्चों के पैसे वापस
बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से अभी तक एक लाख 8 हजार से अधिक बच्चों के अभिभावकों के खाते में धनराशि भेज गई थी, लेकिन 79,590 के खातों में ही धनराशि पहुंच पायी।
 

बैंक खाता आधार से लिंक न होने से खाते में नहीं जा रहा पैसा

28 हजार बच्चों के पैसे वापस
 

चंदौली जिले में बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से जाड़े को देखते हुए परिषदीय विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों को स्वेटर, जूता, मोजा व स्कूल बैग मुहैया कराने के लिए अब उनके अभिभावकों के खाते में सीधे धनराशि भेजी जा रही है, लेकिन बैंक के खाते आधार से लिंक न होने के कारण पैसे का लाभ कई बच्चों को नहीं मिल पा रहा है।

बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से अभी तक एक लाख 8 हजार से अधिक बच्चों के अभिभावकों के खाते में धनराशि भेज गई थी, लेकिन 79,590 के खातों में ही धनराशि पहुंच पायी। जबकि 28 हजार से अधिक बच्चों के अभिभावकों के खाते आधार से लिंक न होने के कारण भेजी गई धनराशि वापस आ गई है। अब शिक्षा विभाग अब ऐसे खातों को ठीक कराने की बात रहा है।

चंदौली जनपद में 1185 परिषदीय विद्यालयों में कक्षा एक से आठ तक के दो लाख 30 हजार छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। परिषदीय विद्यालयों में पठन-पाठन कर रहे बच्चों को पहले स्कूल से ही स्वेटर, मोजा, ड्रेस, बैग आदि वितरित किया जाता था। लेकिन इसमें धांधली और अनियमितता को देखते हुए शासन ने सीधे प्रति बच्चों के अभिभावकों के खाते में 1100 रुपये धनराशि भेजने का फरमान जारी कर दिया। इस धनराशि से अभिभावक बच्चों को गुणवत्ता पूर्ण स्वेटर, मोजा, जूता, ड्रेस खरीद सकें। 

शासन के फरमान के बाद जाड़े को देखते हुए बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से बच्चों के अभिभावकों के खाते में धनराशि भेजने की कार्रवाई की जा रही है। इसमें पहले चरण में एक लाख 8 हजार बच्चों के अभिाभवकों के खाते में सीधे धनराशि भेजी गई है। प्रत्येक बच्चों को 1100 रुपया भेजा जा रहा है। वहीं 28 हजार से अधिक खाते आधार से लिंक न होने के कारण धनराशि वापस आ गई। विभाग की ओर से ऐसे खातों को ठीक कराये जाने की बात रहा है। ताकि पुन: उनके खाते में धनराशि भेजी जा सके। इसके अलावा बाकी बचे बच्चों के अभिभावकों के खाते में धनराशि भेजने की प्रक्रिया की जा रही है।