जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
खुशखबरी वाली खबर : चंदौली जिला हुआ कोरोना मुक्त
 

चंदौली जिले के लिए बुधवार को एक बड़ी खुशखबरी वाली खबर आयी, जब चंदौली जिला लगभग डेढ़ साल बाद कोरोना वायरस से मुक्त बताया गया। जिलाधिकारी कार्यालय से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार चंदौली जिले में कोई भी एक्टिव मरीज नहीं है। इसके चलते चंदौली जिले को कोरोना वायरस से मुक्त बताया जा रहा है।  

जिलाधिकारी की रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को कोरोना की जांच के लिए कुल 1708 नमूने संग्रहित भी किए गए हैं। इसकी पुष्टि डीएम संजीव सिंह ने की है।

आपको याद होगा कि देश में कोरोना का प्रसार बढ़ते ही 25 मार्च 2020 को देश लॉकडाउन हो गया। उस समय जिले में एक भी संक्रमित नहीं रहा। वाराणसी से सटे होने के बावजूद जिले में 13 मई को पहला संक्रमित मिला। बबुरी थाना क्षेत्र के मैनुद्दीनपुर गांव में पहला संक्रमित मिला। वह 11 मई को मुंबई से लौटा था। इसके बाद तो मरीजों के मिलने का सिलसिला तेज हो गया। 30 मई को धानापुर के अमरा गांव निवासी की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली थी। उसकी मौत 28 मई के ही बीएचयू में हो गई थी।

जिला प्रशासन को बीएचयू से 29 मई की आधी रात को इसकी रिपोर्ट मिली थी। ऐसे में जिला प्रशासन ने 30 को रिपोर्ट सावर्जनिक की और उसका अंतिम संस्कार किया गया। इस तरह यह जिले में कोरोना से मृत होने वाला पहला मरीजा रहा।

 16 जुलाई को उस वर्ष का सबसे अधिक 101 कोरोना पॉजिटिव मिले। इसमें अकेले मुगलसराय के 65 संक्रमित रहे। इसके बाद संक्रमितों की संख्या कम होने लगी। नए वर्ष में नए मरीजों के मिलने का क्रम थमा और ठीक होने वालों की संख्या बढ़ती गई। चार मार्च को जिले में मात्र तीन सक्रिय मरीज रह गए। इस समय तक जिले में कोरोना से 67 लोगों की मौत हुई थी। 

होली के बाद जिले में कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप शुरू हुआ और मरीजों की संख्या फिर से बढ़ने लगी। इसके बाद तो नए मरीजों के मिलने के साथ ही मृतकों की संख्या भी बढ़ने लगी। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव ने भी इसकी सक्रिय भूमिका निभाई। स्थिति यह हो गई कि अप्रैल माह में प्रतिदिन औसतन तीन से चार सौ नए संक्रमित मिले। 22 अप्रैल को सबसे अधिक 703 नए संक्रमित मिले, जबकि सात लोगों की मौत हो गई।

26 अप्रैल के बाद जिले में कोरोना बंदी की घोषणा की गई लेकिन तब तक बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो चुके थे। कोरोना की दूसरी लहर का पीक जिले में पांच मई को आया। इस दिन जिले में 231 नए संक्रमित मिले लेकिन 24 संक्रमितों की मौत हो गई। इसके बाद नए संक्रमितों के मिलने का सिलसिला थमा और ठीक होने वालों की संख्या बढ़ी। 

आपको बता दें कि जिले में पिछले तीन दिनों से सिर्फ एक सक्रिय मरीज बचा हुआ था। बुधवार को आई रिपोर्ट में उसे स्वस्थ घोषित किया गया और इस तरह जिले को संक्रमण मुक्त घोषित किया गया। जिले में अब तक 16205 लोग संक्रमित हो चुके हैं, वहीं 15 हजार 649 संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं कोरोना की वजह से 356 लोग काल कवलित हो चुके हैं।