जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली जिला पंचायत से 39 करोड़ का मिला अनुमोदन, यहां होगा इस बजट से काम
चंदौली जिला पंचायत की बैठक बुधवार को कार्यालय सभागार में अध्यक्ष दीनानाथ शर्मा की अध्यक्षता में हंगामेदार तरीके से सम्पन्न तो हो गयी, लेकिन इस मीटिंग में कई खामियां भी उजागर हुयीं।
 
चंदौली जिला पंचायत की मीटिंग 
39 करोड़ का मिला अनुमोदन
 यहां होगा इस बजट से काम
 

चंदौली जिला पंचायत की बैठक बुधवार को कार्यालय सभागार में अध्यक्ष दीनानाथ शर्मा की अध्यक्षता में हंगामेदार तरीके से सम्पन्न तो हो गयी, लेकिन इस मीटिंग में कई खामियां भी उजागर हुयीं। हालांकि इसमें आपसी सहमति से विकास कार्यों के कई प्रस्तावों पर मुहर लगाने की बात मीडिया को बतायी तो गयी लेकिन हकीकत जिला पंचायत सदस्यों को जरूर पता है।

इस दौरान राज्य वित्त और 15वां वित्त एवं मनरेगा के तहत जनहित में सार्वजनिक स्थल पर निर्माण कार्य के लिए लगभग 39 करोड़ का अनुमोदन किया गया। बैठक में पंचम राज्य वित्त की वार्षिक कार्य योजना, 15वां वित्त, मनरेगा की वार्षिक कार्य योजना पर चर्चा की गई। वहीं मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह के तहत 60 जोड़ों की शादी, भवन नक्शा शुल्क को 50 फीसद बढ़ाने, शराब की दुकानों का प्रत्येक तीन साल के बाद लाइसेंस शुल्क में बढ़ोतरी पर मंथन किया गया। जबकि बालू मोरंग खनन पर बिना बैरियर लगाए परिवहन शुल्क की वसूली समेत अन्य कार्यों के अनुमोदन पर विचार किया गया। 


इसके अलावा बलुआ घाट पर देव दीपावली पर होने वाला गंगा महोत्सव के लिए जिला पंचायत से दो लाख रुपये खर्च करने व गांवों में सीसी रोड, स्ट्रीट लाइट लगवाने समेत अन्य विकास कार्यों पर की रणनीति बनी। वहीं अन्य विकास कार्यों को गति देने पर चर्चा की गई। जबकि सदस्यों ने मानदेय दिए जाने की मांग की। 

इस बैठक में सीडीओ अजितेंद्र नारायण ने सदस्यों को विकास कार्यों के सभी प्रस्तावों पर गंभीरतापूर्वक विचार करने का भरोसा दिलाया और कहा कि जो भी कार्य स्वीकृत किए गए हैं उन्हें वरीयता के आधार पर गुणवत्तापूर्ण तरीके से कराया जाएगा।

 इस दौरान बैठक में सांसद प्रतिनिधि एवं पूर्व अध्यक्ष छत्रबली सिंह, अपर मुख्य अधिकारी कमलेश सिंह, अभियंता विजयानन्द तिवारी, जेई शिवेंद्र सिंह, जसवंत चौहान, सुबाषचंद प्रसाद, प्रशासनिक अधिकारी आनन्द सिंह, पीडी सुशील सिंह, डीसी मनरेगा धर्मजीत सिंह राजेश यादव के साथ ही सभी सदस्य मौजूद रहे।