जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चकिया की मुजफ्फरपुर बीयर और नौगढ़ बांध के लिए 22 करोड़ खर्च, हो गया लोकार्पण भी
प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मुजफ्फरपुर स्थित बीयर और नौगढ़ स्थित बांध के पुनरूद्धार कार्य का वर्चुअल लोकार्पण कर दिया है।
 

नौगढ़ व चकिया इलाकों के लिए सिंचाई की व्यवस्था मजबूत

देख लीजिए योगी सरकार ने 22 करोड़ खर्च कर कराया है काम 
 

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को मुजफ्फरपुर स्थित बीयर और नौगढ़ स्थित बांध के पुनरूद्धार कार्य का वर्चुअल लोकार्पण कर दिया है। मुजफ्फरपुर बीयर का 11.70 करोड और नौगढ़ बांध का 10.21 करोड़ की लागत से पुनरुद्धार किया जाने वाला है। इस पुनरुद्धार कार्य से जिले के साथ बिहार के सैकड़ों एकड़ खेतों की सिंचाई के लिए पानी आसानी से मिलने लगेगा और किसानों की कई साल पुरानी समस्या खत्म हो जाएगी।

लोकार्पण के बाद सीएम ने कहा कि केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों के हित में लगातार कार्य कर रही है। किसानों को सिंचाई की सुविधा प्रदान करने के लिए मुजफ्फरपुर के बीयर और नौगढ़ के बांध का पुनरुद्धार कार्य कराया गया है। इससे किसानों को सुविधा मिलेगी। मुजफ्फरपुर बीयर से निकली दो नहरों को लेफ्ट व राइट की लंबाई शुरुआत में कम थी। आजादी के बाद पहली पंचवर्षीय योजना में नहरों की लंबाई बढ़ाई गई और कई माइनर बनाए गए। राइट नहर से न केवल जिले बल्कि बिहार के खेतों की सिंचाई होने लगी। बिहार के भभुआ जिले के चार प्रखंड के खेतों की सिंचाई राइट नहर से होती है। 

वहीं नौगढ़ बांध में एकत्र पानी का प्रयोग भी सिंचाई के लिए होता है। मूसाखांड बांध में पानी समाप्त होने के बाद नौगढ़ बांध से पानी छोड़ा जाता है। इसके बाद मूसाखांड बांध का पानी मुजफ्फरपुर बीयर में भेजा जाता है। यहां से नहरों के जरिए पानी खेतों तक पहुंचता है। काफी पुराना होने के कारण मुजफ्फरपुर बीयर व नौगढ़ बांध की मरम्मत की आवश्यकता थी। अब मरम्मत कार्य पूरा हो जाने के बाद बुधवार को मुख्यमंत्री ने इसका वर्चुअल लेकार्पण किया है।

शासन की ओर से प्राप्त धन से मुजफ्फरपुर बीयर में वॉल, एप्रन का निर्माण कराने के साथ बीयर बॉडी में सिमेंटीजन व ग्राइटिंग का मरम्मत कार्य कराया गया है। इसके अलावा लेफ्ट व राइट बंध की स्ट्रेपनिंग व हेड रेग्यूलेटर के गेटों की मरम्मत भी कराई गई है। वहीं नौगढ़ बांध में स्पिलवे, बॉडी व ग्राइटिंग और गेटों की मरम्मत का कार्य पूरा कर लिया गया है। राइट व लेफ्ट एफ्लक्स बंध व औरवाटांड बंध के स्ट्रेचनिंग का कार्य समाप्ति की ओर है। वहीं क्षतिग्रस्त बोल्डर पीचिंग की मरम्मत, बांध के क्षतिग्रस्त प्रोटेक्शन वॉल, सिस्टर्न व डिवाइड वॉल की मरम्मत का कार्य चल रहा है।