जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
आज होगी ऑनलाइन टोकन पर धान की खरीद, नमी व ऑफलाइन पर डीएम साहब लेंगे फैसला
चंदौली जिले में धान की खरीद को लेकर चल रही गहमागहमी के ऊपर आज जिले के सारे केंद्रों पर खरीद शुरू करने की बात कही जा रही है।
 

आज होगी ऑनलाइन टोकन पर धान की खरीद

नमी व ऑफलाइन पर डीएम साहब लेंगे फैसला

नमी अधिक होने पर लौटा दिए जाएंगे किसान

सुखाना होगा किसानों को अपना धान

चंदौली जिले में धान की खरीद को लेकर चल रही गहमागहमी के ऊपर आज जिले के सारे केंद्रों पर खरीद शुरू करने की बात कही जा रही है। चंदौली समाचार से बात करते हुए डिप्टी आरएमओ अनूप कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि मंडी समिति में ऑफलाइन टोकन से धान खरीद करने के बारे डीएम साहब जब तक कोई फैसला नहीं करते तब तक कोई खरीद संभव नहीं है।


आपको बताते चलें कि गुरुवार को जिले के सारे केंद्रों पर हड़ताल होने के कारण खरीदारी नहीं हुई थी, जिसके कारण परेशान किसानों ने चक्काजाम किया था। धान की खरीदारी को लेकर मंडी समिति में हो दिक्कतों के कारण सड़क जाम करके धरना पर बैठे किसानों को उपजिलाधिकारी सदर के द्वारा आश्वासन दिया गया था कि मंडी समिति के केंद्र पर ऑफलाइन भी खरीदारी की जाएगी। जिसके लिए अतिरिक्त कांटे लगाए जाएंगे। तभी जाकर धरना प्रदर्शन समाप्त हुआ था, लेकिन अभी उच्चाधिकारियों के कोई निर्णय न होने के कारण ऑफलाइन खरीदारी होने की कोई संभावना नहीं है। 

वहीं सरकारी अफसरों से बदसलूकी करने वाले किसानों के ऊपर मुकदमा दर्ज होने व सुरक्षा व्यवस्था मिलने के भरोसे के बाद अड़े क्रय केंद्र प्रभारियों ने आज से धान खरीद शुरू करने की बात कही है। इससे ऐसा लगता है कि आज सभी क्रय केंद्रों पर खरीदारी का कार्य शुरू हो जाएगा। 

इस संबंध में डिप्टी आरएमओ अनूप कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि आज सभी केंद्रों पर धान की खरीदारी का कार्य किया जाएगा, लेकिन उपजिलाधिकारी द्वारा किसानों को दिए गए ऑफलाइन खरीदारी के आश्वासन के संबंध में जिलाधिकारी ही फैसला लेंगे और आदेश जारी करेंगे। उच्चाधिकारियों का जो निर्देश होगा उसके अनुसार ऑफलाइन खरीदारी का काम होगा। 

नमी के मामले में सख्त निर्देश जारी करके कहा कि नमी वाले धान किसी भी कीमत पर नहीं लिए जाएंगे। इसके लिए किसानों को धान की नमी को खत्म करने के लिए खुद उन्हें सुखाने का ही रास्ता अपनाना होगा, तभी उनके धान की खरीद संभव होगी। 


अब देखना है कि ऐसी स्थिति में कल के प्राप्त टोकन के किसानों की पूरे जनपद में किस प्रकार खरीदारी हो पाएगी।