जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
सांसद व केंद्रीय मंत्री डा. महेंद्रनाथ पांडेय चंदौली में आज रेलवे ओवर ब्रिज का करेंगे लोकार्पण
33.47 करोड़ की लागत से निर्मित बहुप्रतीक्षित 632 मीटर लंबे रेलवे ओवर ब्रिज का लोकार्पण केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री एवं सांसद डा. महेंद्रनाथ पांडेय आज फीता काटने के साथ ही वाहन को हरी झंडी दिखाकर करेंगे।
 

सांसद व केंद्रीय मंत्री डा. महेंद्रनाथ पांडेय

आज रेलवे ओवर ब्रिज का करेंगे लोकार्पण
 

चंदौली जिले के मुख्यालय के सकलडीहा रोड पर स्थित पीडीडीय-गया रेलखंड की क्रासिंग पर 33.47 करोड़ की लागत से निर्मित बहुप्रतीक्षित 632 मीटर लंबे रेलवे ओवर ब्रिज का लोकार्पण केंद्रीय भारी उद्योग मंत्री एवं सांसद डा. महेंद्रनाथ पांडेय आज फीता काटने के साथ ही वाहन को हरी झंडी दिखाकर करेंगे। इसका नाम पूर्व प्रधानमंत्री पंडित अटल बिहारी सेतु होगा। लोकार्पण के बाद 15 दिनों तक बाइक और चार पहिया वाहनों के आवागमन को अनुमति होगी। इसके बाद भारी वाहनों का आवागमन शुरू होगा।


बताते चलें कि जिला मुख्यालय पर लम्बे समय से आरओबी निर्माण की मांग जनदवासी कर रहे थे। इसपर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद इसे मंजूरी मिली। वहीं शासन से बजट जारी किया गया। इसके साथ ही 2018 में आरओबी निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया था। इसके निर्माण की तय सीमा जनवरी 2019 तक थी। लेकिन कोरोना की वजह से निर्माण कार्य प्रभावित रहा। कोरोना संक्रमण रुकने के बाद आरओबी का निर्माण कार्य काफी तेजी से किया गया। इसका परिणाम रहा कि 31 दिसंबर 2021 को ओवर ब्रिज बनकर तैयार हो गया। करीब 33.47 करोड़ की लागत से 632.68 मीटर लंबे दो लेन का निर्माण कराया गया है। 


वहीं रेलवे ट्रैक के ऊपर 60 मीटर तक बिना किसी सपोर्टिंग के पीलर के स्लैब ढाला गया है। इसके लिए बो-स्ट्रींगर पद्धति का इस्तेमाल हुआ है। पूर्वांचल में बनारस के बाद सेतु निगम ने रेलवे ट्रैक के ऊपर यह दूसरा पुल बनाया है। 

इस सम्बन्ध में सेतु निगम के डीपीएम अनिरुद्ध कुमार ने बताया कि ऊपर से लगाए गए भारी-भरकम स्ट्रींगर के सहारे स्लैब टिका रहेगा। यह बेहतर और टिकाऊ तकनीक है। कहा कि लोकार्पण के बाद बाइक और चार पहिया वाहनों का आवागमन शुरू हो जाएगा। लेकिन 15 दिनों तक ट्रायल होगा। इसके बाद भारी वाहनों के आवागमन शुरू किया जाएगा।