जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
कुर्की की नोटिस के बाद भी फरार हैं फायरिंग के आरोपी, आखिर कब होगी कुर्की
जिला मुख्यालय स्थित कोट पर 17 दिसंबर को सरेआम फायरिंग व मारपीट के मामले में जिलाधिकारी ने तीन लोगों के पिस्टल के लाइसेंस निरस्त करते हुए कार्रवाई के बड़े संकेत दिए हैं।
 

17 दिसंबर को सरेआम फायरिंग

मारपीट के मामले में क्या है पुलिस का अगला एक्शन

 जानिए पूरा मामला
 

चंदौली जिला मुख्यालय स्थित कोट पर 17 दिसंबर को सरेआम फायरिंग व मारपीट के मामले में जिलाधिकारी ने तीन लोगों के पिस्टल के लाइसेंस निरस्त करते हुए कार्रवाई के बड़े संकेत दिए हैं। फरार चल रहे लोगों के खिलाफ कुर्की की नोटिस जारी की गयी थी। इसके बाद सात में से तीन लोगों के लाइसेंस कैंसिल कर दिए हैं। 

चंदौली जिला मुख्यालय स्थित कोट पर 17 दिसंबर को सरेआम फायरिंग व मारपीट की घटना की शुरुआत में प्रशासन ने सख्त कार्रवाई की बात कहते हुए फरार चल रहे लोगों के खिलाफ कुर्की का नोटिस जारी करके दबाव बनाया था। फिलहाल जिलाधिकारी ने तीन लोगों के पिस्टल के लाइसेंस निरस्त कर दिए हैं। पुलिस ने जांच कर सात असलहों का लाइसेंस निरस्त करने की संस्तुति करते हुए डीएम को रिपोर्ट भेजी थी। इस पर कार्रवाई की गई है। इससे खलबली मची है।

जमीन के विवाद में पिछले 17 दिसंबर को कोट पर दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई थी। इसमें लाठी व गंडासे से जमकर मारपीट हुई थी। वहीं हवाई फायरिंग भी हुई थी। इसका वीडियो भी इंटरनेट मीडिया में वायरल हुआ था। इसके बाद पुलिस हरकत में आई। नौ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। एक आरोपित की गिरफ्तारी हुई थी। शेष फरार हो गए थे। फरार आरोपितों के खिलाफ अदालत ने कुर्की का आदेश दिया था। इसके बाद पुलिस ने नोटिस भी चस्पा करा दी।

वहीं सात लोगों के लाइसेंस निरस्त करने के लिए डीएम को पत्र भेजा था। जिलाधिकारी ने त्वरित कार्रवाई करते हुए तीन का लाइसेंस निरस्त कर दिया। वहीं एक अन्य का लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई प्रक्रिया में है। कार्रवाई से आरोपितों में खलबली मची है। 

जिलाधिकारी ने कहा कि पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर लाइसेंस निरस्त किए गए हैं। कानून व्यवस्था के खिलाफ जाने वालों पर कार्रवाई तय है।