जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
राजनीति रोटी सेंकने की कोशिश कर रहीं हैं भाजपा विधायक, मौत के बाद राजनीति ठीक नहीं
समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव मनोज कुमार सिंह डब्लू ने पीड़ित परिजनों को ढांढस बनाने की कोशिश के साथ ही साथ इस घटना में उत्तर प्रदेश सरकार और अलीनगर पुलिस की नाकामी के ऊपर भी चर्चा की।
 

पूर्व विधायक ने सिकटिया में हुई मौत पर दागा सवाल

आखिर क्यों नहीं हुयी दोषी पुलिस वालों पर कार्रवाई

राजनीति रोटी सेंकने की कोशिश कर रहीं हैं भाजपा विधायक

चंदौली जिले के अलीनगर थाना क्षेत्र के सिकटिया गांव में हुई हत्या के बाद पीड़ित परिवार के घर राजनेताओं का आना जाना लगा हुआ है। हत्या के पहले दिन भाजपा व कांग्रेस के नेता मौके पर गए थे तो हत्या के दूसरे दिन मौके पर पहुंचकर समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव मनोज कुमार सिंह डब्लू ने पीड़ित परिजनों को ढांढस बनाने की कोशिश के साथ ही साथ इस घटना में उत्तर प्रदेश सरकार और अलीनगर पुलिस की नाकामी के ऊपर भी चर्चा की।

Manoj Singh W on Alinagar Murder Case

मनोज कुमार सिंह डब्लू ने कहा कि यह प्रदेश सरकार की कानून व्यवस्था और अलीनगर पुलिस की लापरवाही का परिणाम है। अगर पुलिस पहले इस मामले में संवेदनशीलता दिखाती तो इस घटना से बचा जा सकता था। इस सरकार में पुलिस का रवैया गैर जिम्मेदाराना है और वह मामले में कार्रवाई करने के बजाय सुलह समझौते करवा कर रफादफा करवाना चाहती है। उसी के कारण ऐसी घटनाएं जन्म लेती हैं। 

वहीं मनोज कुमार सिंह डब्लू ने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेता घटना के बाद मौके पर पहुंचकर इसे जातिगत और राजनीतिक रंग देने की कोशिश करते हुए अपनी राजनीतिक रोटी सेंक रहे हैं। राजनेता का उद्देश्य हत्या के बाद राजनीति करना नहीं होना चाहिए, बल्कि कोशिश करनी चाहिए कि पीड़ित परिवार के संग जल्द से जल्द न्याय हो और किसी भी व्यक्ति का गलत तरीके से उत्पीड़न ना हो।

Manoj Singh W on Alinagar Murder Case

 मनोज कुमार सिंह डब्लू ने सोशल मीडिया में वायरल हो रहे मुगलसराय के विधायक साधना सिंह के बयान और मौके पर डीएम एसपी की मौजूदगी को भी निंदनीय घटना करार देते हुए कहा कि जिले के आला अधिकारियों के सामने एक राजनेता इस तरह से भड़काऊ बयान दे रहा है और पुलिस और आला अधिकारी मौके पर खड़े होकर देख रहे हैं... यह कैसे उचित कहा जा सकता है। विधायक ने खुद अपने बयान में कहा कि इसमें पुलिस के अफसरों के द्वारा लापरवाही बरती गई है। तो ऐसी हालत में लापरवाह लोगों पर कार्रवाई क्यों नहीं हुयी और उनको दंडित क्यों नहीं किया गया।