जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
गेल को एक करोड़ 47 लाख का नगर पालिका ने भेजा नोटिस, जल्द ही एफआईआर कराने की तैयारी
जिले के मुगलसराय इलाके में गेल (गैस अथॉरिटी इंडिया लिमिटेड) की करतूत से परेशान लोगों की शिकायत पर जागे नगर पालिका प्रशासन ने भूमिगत गैस पाइप लाइन बिछाने के मामले में सरकारी नियमों की अनदेखी व परमीशन के अनुसार काम न करने के कारण  एक करोड़ 47 लाख 50 हजार रुपये का नोटिस भेजा गया है। जल्द ही गेल पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
 

गैस अथॉरिटी इंडिया लिमिटेड के खिलाफ एक्शन

नगर पालिका की बड़ी कार्रवाई

जानिए क्यों हैं अब FIR कराने की तैयारी

चंदौली जिले के मुगलसराय इलाके में गेल (गैस अथॉरिटी इंडिया लिमिटेड) की करतूत से परेशान लोगों की शिकायत पर जागे नगर पालिका प्रशासन ने भूमिगत गैस पाइप लाइन बिछाने के मामले में सरकारी नियमों की अनदेखी व परमीशन के अनुसार काम न करने के कारण  एक करोड़ 47 लाख 50 हजार रुपये का नोटिस भेजा गया है। जल्द ही गेल पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

नगर पालिका के द्वारा भेजी गयी नोटिस में चेतावनी देते हुए कहा गया है कि जल्द ही राशि का भुगतान नहीं किया गया तो पालिका की ओर से एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी और इससे गेल के अफसरों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

मुगलसराय इलाके में लोगों के घरों तक पीएनजी (पाइप्ड नेचुरल गैस) की आपूर्ति के लिए नगर में गेल कंपनी की ओर से भूमिगत गैस पाइप लाइन बिछाई जा रही है। पालिका के अधिकारियों की अनुसार गेल की ओर से तीन सितंबर 2021 को नगर में तीस किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछाने के लिए 50 गड्ढों को खोदने की अनुमति ली थी। जबकि नगर में गेल की ओर से तीन हजार से अधिक गड्ढे खोद दिए। इसके बाद गेल की ओर से उन गड्ढों की मरम्मत भी नहीं कराई गई। जिससे सड़क से लेकर गलियों तक में गड्ढों की भरमार हो गई।

आरोप है कि गड्ढों की मरम्मत के लिए पालिका ओर से गेल को तीन बार नोटिस भेजा गया, इसके बाद भी उन्होंने इस ओर ध्यान नहीं दिया। गड्ढों की मरम्मत के लिए पालिका ने गेल कंपनी को एक करोड़ 47 लाख 50 हजार रुपये भरने के लिए नोटिस भेजा गया है। नगर में भूमिगत गैस पाइप लाइन बिछाने के चक्कर में लोगों को सिर्फ सड़कों में गड्ढों की समस्या से ही नहीं बल्कि की भूमिगत पेयजल पाइप लाइन के क्षतिग्रस्त होने कारण पानी की समस्या से भी जूझना पड़ा है। नगर में गैस पाइप लाइन डालके चक्कर में सौ से अधिक स्थानों पर पेयजल पाइप लाइन को क्षतिग्रस्त किया। इसके चलते कई क्षेत्रों में लोगों के घरों में गंदे पानी की सप्लाई होती रही है। 

कहा गया कि संवाद नगर में गैस पाइप लाइन बिछाने के चलते खोदे गए गड्ढों ने सड़क को तो खराब किया ही वहीं नई पेयजल पाइप लाइन बिछाने के चक्कर में गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई ने भी कई सड़कों को खोद दिया। इसके बाद उसको सही तरीके से बनाने के बजाय खानापूर्ति कर छोड़ दिया गया। इस संबंध में पालिका ने गंगा प्रदूषण इकाई को भी नोटिस भेजा है। बारिश के चलते नगर में स्थिति नारकीय हो गई।

इस मामले की जानकारी देते हुए नगरपालिका के ईओ कृष्णचंद्र ने कहा कि गेल ने नगर में मात्र 50 गड्ढों के खोदने की अनुमति ली थी, लेकिन अभी तीन हजार से भी ज्यादा गड्ढे खोद दिए गए हैं। सड़क और पेयजल पाइप लाइन को नुकसान हुआ है। गेल कंपनी के 1.47 करोड़ रुपये का नोटिस भेजा गया है। भुगतान नहीं होने पर नगर की संपत्ति को क्षति पहुंचाने के लिए एफआईआर तक दर्ज कराई जाएगी। इसके साथ ही साथ  गंगा प्रदूषण नियंत्रण इकाई को भी सड़क मरम्मत के लिए नोटिस भेजा गया है। ताकि नगर पालिका के क्षेत्र में सड़कों व अन्य सुविधाओं की मरम्मत करायी जा सके।

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*