जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चकिया कोतवाल को आया फोन- एक घंटे में तुम्हारा ट्रांसफर करा दूंगा..जानते नहीं मैं कौन हूं
 


चंदौली जिले के पुलिस अधिकारी आजकल एक ऐसे फोन कॉलर की तलाश कर रहे हैं, जो मोबाइल फोन पर पुलिस के अधिकारियों को धमकी देने का काम करता है। हालांकि वह अपना मोबाइल फोन बंद कर रखा हुआ है, लेकिन पुलिस के अधिकारी सर्विलांस पर लगाकर उसके पुराने रिकॉर्ड को खंगाल रहे हैं, ताकि धमकी देने वाले तक पहुंचा जा सके।

 ताजा मामला चकिया कोतवाल से जुड़ा हुआ है, जिनको बुधवार की रात को एक फोन आया था और उनको धमकी दी गयी थी। फोनकरने वाले ने कहा कि.. 'ईमानदारी का तगमा लिए हो, जानते नहीं हो मैं कौन हूं, ट्रांसफर करा दूंगा'। 

इतना ही नहीं कॉलर ने आगे कहा कि... 'कौड़िहार गांव में बालू खनन हो रहा है और तुम ईमानदारी का तगमा लिए फिर रहे हो। एक घंटे भी नहीं लगेगा, तुम्हारा ट्रांसफर करा दूंगा। जानते नहीं मैं कौन हूं, मैं विधायक का ड्राइवर हूं। मेरी पहुंच ऊपर तक है।' 

हालांकि यह बात सुनकर कोतवाल नागेंद्र प्रताप सिंह अवाक रह गए और जैसे ही वह कुछ पूछते, कॉलर ने अपना फोन काट दिया।

इसके बाद कोतवाल ने कॉल बैक किया तो मोबाइल स्विच ऑफ बताने लगा। कोतवाल ने इससे संबंधित जानकारी उच्चाधिकारियों को दी और रात्रि में ही कौड़िहार गांव में पहुंच गए। 

इसके बाद उन्होंने गुरुवार की दोपहर में भी गांव में जाकर लोगों से पूछताछ की, लेकिन अवैध खनन के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली। कोतवाल ने बताया कि संबंधित नंबर को सर्विलांस पर लगाकर ट्रेस किया जा रहा है। शीघ्र ही गुमनाम व्यक्ति का पता लगा लिया जाएगा और उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।