जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
वायरल वीडियो : थाने में बैठकर पुलिस को गाली, क्या बड़बोले नेता पर भी होगी कार्रवाई..!
आप लोग ही सोचिए और अपनी राय दीजिएगा कि भाजपा के नेता सत्ता के मद में चूर तो नहीं होने लगे हैं या वह कानून को ठेंगे पर रखने लगे हैं....
 

कानून को ठेंगे पर रखने लगे हैं भाजपा नेता

थाने में बैठकर गाली देने वाले नेता पर कौन करेगा कार्रवाई

क्या यही है भाजपा के अंदर अनुशासन व बोलचाल की ट्रेनिंग

 
चंदौली जिले में भारतीय जनता पार्टी के नेता भी अपना आपा खोने लगे हैं। मंगलवार की रात जब सैयदराजा थाना क्षेत्र के एक भाजपा नेता की थाने के अंदर पिटाई के मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का धरना प्रदर्शन चल रहा था, तभी भारतीय जनता पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेता भी थाने में आ धमके। वहां बैठे नेता पुलिस पर अपने हिसाब से टिप्पणी भी कर रहे थे।

वहां पर थाने के अंदर बैठकर लोग पुलिस से जुड़े तरह तरह के किस्से चर्चा कर रहे थे और अपना आक्रोश निकाल रहे थे। कुछ लोग पुलिस से जुड़े पहले के मामलों का हवाला दे रहे थे, तो कुछ लोग वहां पर पुलिस के सिपाहियों की करतूत भी बता रहे थे।

 ऐसे में वहां पर भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष और वरिष्ठ किसान नेता भी पहुंच कर अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करानी चाही। वह कुछ इस अंदाज में पुलिस वालों पर बरस पड़े कि उन्हें यह भी याद नहीं रहा कि वह कहां बैठे हैं और क्या कह रहे हैं।

 इस दौरान उन्होंने पुलिस को भद्दी भद्दी गालियां दी और वर्दी के ऊपर भी कमेंट किया है। इतना ही नहीं जब किसी ने टोक कर खबर बन जाने की बात कही तो भी उनके उपर कोई फर्क नहीं पड़ा वह और उत्तेजित होते दिखे और खबर से न डरने की बात कहते दिखे। 

 क्या आप इस वीडियो को देखकर बता सकते हैं कि अनुशासित पार्टी कहीं जाने वाली भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता की यह करतूत व बयानबाजी किस तरह से जायज  ठहरायी जा सकती है। अगर पुलिस के प्रति उनका गुस्सा है या किसी पुलिस के सिपाही या दरोगा के प्रति आक्रोश है तो उसे व्यक्तिगत रूप से या किसी ऐसे स्थान पर प्रदर्शित करें जहां पर सार्वजनिक रूप से उनकी छवि पर असर ना हो। 

पुलिस थाने में बैठकर इस तरह से खुलेआम गाली देना क्या अपराध की श्रेणी में नहीं आता है... क्या पुलिस के अधिकारी और भाजपा के वरिष्ठ नेता इस बात का संज्ञान नहीं लेंगे... अगर भाजपा नेता और कार्यकर्ता के साथ पुलिस द्वारा की गई बदतमीजी पर मुकदमा दर्ज हो रहा है.. तो क्या थाने में बैठकर पुलिस वालों को गाली देने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेता पर मुकदमा नहीं दर्ज होना चाहिए...।

आप लोग ही सोचिए और अपनी राय दीजिएगा।