जिले का पहला ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टलMovie prime
चंदौली के नवागत डीएम ईशा दुहन का यह है सफर, जानिए कौन है ईशा दुहन, क्यों रहती हैं चर्चा में
कहा जाता है कि ईशा दुहन अपनी सकारात्मक सोच वाली कार्यशैली व और दृढ़ निश्चय के साथ कार्य करने की काबिलियत के लिए चर्चा में रही हैं। यह हमेशा अपने कार्यों के प्रति लगनशील होकर कार्य करती रही हैं।
 

जिले में दूसरी महिला डीएम की तैनाती

जानिए ईशा दुहन का सफरनामा और पूरा परिचय

 

चंदौली जिले के नवागत डीएम अपने कार्यों और कार्यशैली के कारण हमेशा सुर्खियों में रही हैं। इसके लिए उन्हें प्रेरणा अपने परिवार से मिली है। सारी उपलब्धियों का श्रेय वह अपने परिवार को देती हैं। जिलाधिकारी के रुप में पहली पोस्टिंग के बाद जिले को इनसे काफी उम्मीदें हैं।

बता दें कि ईशा दुहन मूल रूप से हरियाणा के पंचकुला के रहने वाले पुलिस अधिकारी ईश्वर सिंह दुहन की पुत्री हैं। यह अपने पिता के कर्तव्यनिष्ठा व कार्यशैली से ज्यादा प्रभावित रहती हैं। इनके पिता ईश्वर सिंह दुहन आइटीबीपी में आईजी के पद पर तैनात थे। कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के पूर्व रजिस्ट्रार एवं प्रख्यात समाजसेवी डॉ हवा सिंह के पुत्र मेजर अभिमन्यु सिंह की धर्मपत्नी हैं। मेरठ में तैनाती के दौरान लॉकडाउन में जरूरतमंदों की सेवा करने के कारण समाज सेवा में इनकी विशेष रूचि रही है।

प्रतीक्षा सूची में जाने पर हो रही है चर्चा, नहीं बचा पाए कद्दावर संरक्षक और नेताजी

2014 बैच की आईएएस 
 इनकी पहली कई अन्य जिलों में रही है, लेकिन जिलाधिकारी के रुप में पहली पोस्टिंग चंदौली जनपद में हुई है।  इसके पूर्व में असिस्टेंट मजिस्ट्रेट के पद पर मेरठ में, फिर ज्वाइंट मजिस्ट्रेट के पद पर वाराणसी तथा मुख्य विकास अधिकारी के पद पर बुलंदशहर और मेरठ में कार्य कर चुकी हैं। फिर वह 2021 से वाराणसी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष के तैनात रहीं हैं और उसके बाद अब इनको चंदौली के जिलाधिकारी के रूप में शासन द्वारा तैनात किया गया है।


 

कहा जाता है कि ईशा दुहन अपनी सकारात्मक सोच वाली कार्यशैली व और दृढ़ निश्चय के साथ कार्य करने की काबिलियत के लिए चर्चा में रही हैं। यह हमेशा अपने कार्यों के प्रति लगनशील होकर कार्य करती रही हैं। इसीलिए इनको वाराणसी से चंदौली जिले के जिलाधिकारी के रुप में तैनात किया गया है। 

कार्य योजना बनवाकर जिले से जा रहे संजीव सिंह, बजट के लिए करना होगा इंतजार, तभी जिले को मिलेगा नया विकास भवन व स्टेडियम 

अब देखना है कि नए जिले में नए जिलाधिकारी के रुप में इनकी कार्यशैली कैसी रहती है और पूर्ववर्ती जिलाधिकारियों से अलग किस तरह का अपना प्रभाव छोड़ पाती हैं। साथ ही चंदौली के विकास में बाधक भ्रष्ट व लापरवाह अफसरों की किस तरह से नकेल कस पाती हैं।
किरकिरी के बाद रविवार को आया नया आदेश, प्रतीक्षा के बाद संजीव सिंह को वित्त विभाग में तैनाती, विशेष सचिव के पद पर तैनात

चंदौली जिले की खबरों को सबसे पहले पढ़ने और जानने के लिए चंदौली समाचार के टेलीग्राम से जुड़े।*